ICC: Mobile use in PSL matches in PCB’s issue

पाकिस्तान सुपर लीग 2020 के कराची किंग्स बनाम पेशावर जालिमी मैच के दौरान कराची फ्रेंचाइजी के एक अधिकारी के डगआउट में फोन पर बातचीत करने के मामले पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल दखलअंदाजी नहीं करना चाहती है। आईसीसी का कहना है ये मामला पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) को ही देखना होगा।

आईसीसी के एक अधिकारी ने आईएएनएस से कहा कि पीएसएल घरेलू टूर्नामेंट है इसलिए मोबाइल फोन इस्तेमाल करने के मुद्दे को पाकिस्तान के बोर्ड को ही देखना होगा। अधिकारी ने कहा, “ये घरेलू मैच है और इसलिए यह पीसीबी का मुद्दा है।”

मामले से जुड़ी एक तस्वीर के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद पीएसएल के आयोजकों को दुनिया भर के क्रिकेट फैंस से आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। इसके पीछे का एक कारण है- पीएसएल में सामने आ चुके फिंक्सिग के मामले। हाल ही में पीएसएल में स्पॉट फिक्सिंग मामले में दोषी पाए गए नासिर जमशेद पर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने 10 साल का बैन लगाया था। साथ ही उन्हें 17 महीने की जेल की सजा भी सुनाई गई।

PSL 2020 विवाद पर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने कहा- डगआउट में मोबाइल इस्तेमाल कर सकते हैं मैनेजर

वैसे कराची किंग्स के कोच डीन जोन्स बोल चुके हैं कि वायरल हो रही इस तस्वीर में फोन पर बात करते हुए दिख रहे शख्स टीम के मैनेजर तारिक वसीम हैं। उन्होंने ट्वीट किया, “सभी टी20 क्रिकेट लीगों की तरह ही, मैनेजर/सीईओ को फोन रखने की इजाजत होती है। इस मामले में तारिक जो हमारे सीईओ हैं वो अपना काम कर रहे थे। यहां वे हमारे लिए आज के लिए अभ्यास समय के लिए प्रबंध कर रहे थे। आपकी चिंता के लिए शुक्रिया।”

जोन्स ने जहां वासी को सीईओ बताया है वहीं किंग्स टीम के मीडिया मैनेजर फैजल मिर्जा ने बताया था कि वासी टीम मैनेजर हैं। लेकिन पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्ट्स के मुताबिक, टॉस के दौरान जो टीम शीट जारी की गई थी, उसमें नावेद राशिद को टीम का मैनजेर बताया गया था। इस मामले में पीसीबी के मुखिया एहसान मनी से संपर्क किया गया लेकिन उन्होंने मैसेज का जवाब नहीं दिया है।