icc needs to focus more on odi test cricket kapil dev

सिडनी: भारत के पूर्व कप्तान कपिल देव को लगता है कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) को वनडे और टेस्ट मैच क्रिकेट के अस्तित्व को सुनिश्चित करने के लिए और समय देने की जरूरत है। फ्रेंचाइजी टी20 लीग के विकास ने वनडे क्रिकेट के भविष्य पर एक गंभीर सवालिया निशान खड़ा कर दिया है, और टेस्ट क्रिकेट सहित इसके भविष्य के लिए चिंता का विषय है।

व्यस्त कार्यक्रम के कारण इंग्लैंड के टेस्ट कप्तान बेन स्टोक्स के वनडे संन्यास ने 50 ओवर के खेल के भविष्य के बारे में और भी संदेह पैदा कर दिया है।

कपिल ने सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड के हवाले से कहा, ‘मुझे लगता है कि यह वनडे क्रिकेट जल्द ही खत्म हो जाएगा। आईसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) की एक बड़ी जिम्मेदारी है कि इस खेल को कैसे बचाया जाए। यह यूरोप में फुटबॉल की तरह चल रहा है। वे प्रत्येक देश के खिलाफ नहीं खेलते हैं। यह चार साल में विश्व कप के रूप में एक बार होता है। क्या हमारे पास विश्व कप और बाकी समय क्लब (टी20 फ्रेंचाइजी) क्रिकेट खेलने का है?’

उन्होंने आगे कहा, ‘इसी तरह, क्या क्रिकेटर आखिर में मुख्य रूप से आईपीएल या बिग बैश या ऐसी ही कुछ लीग में खेल रहे होंगे? इसलिए आईसीसी को इसमें और ध्यान देना चाहिए। ताकि वनडे क्रिकेट, टेस्ट मैच क्रिकेट के अस्तित्व को सुनिश्चित रखा जा सके।’

1983 वनडे विश्व कप विजेता कप्तान कपिल सिडनी में भारत की स्वतंत्रता के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में भारत-आस्ट्रेलिया रणनीतिक एलाइंस डिनर में सम्मानित अतिथि थे। उन्हें डर था, कि अगले साल की शुरूआत में दक्षिण अफ्रीका और संयुक्त अरब अमीरात की अपनी टी20 लीग होने के कारण, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट सिर्फ विश्व कप तक ही सीमित ना रह जाए।

जनवरी और फरवरी 2023 में होने वाली दक्षिण अफ्रीका की टी20 लीग का सीधा मुकाबला यूएई की इंटरनेशनल लीग टी20 (आईएलटी20) से होगा, जो अगले साल जनवरी में भी होगा। दोनों लीग उस समय संचालित होंगी, जब ऑस्ट्रेलिया की बिग बैश लीग (बीबीएल) और बांग्लादेश की बांग्लादेश प्रीमियर लीग (बीपीएल) होगी।