© Getty Images
© Getty Images

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने इंटरनेशनल क्रिकेट को और आकर्षक बनाने के लिए एक बड़ा कदम उठाया है। ऑकलैंड में हुई गवर्निंग बॉडी की मीटिंग के बाद आईसीसी ने आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप और वनडे इंटरनेशनल लीग को मंजूरी दे दी। ये दोनों लीग आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 के बाद आयोजित की जाएंगी। इस तरह के आयोजन की योजना इसलिए बनाई गई है ताकि द्विपक्षीय सीरीजों के महत्व को बढ़ाया जा सके।

क्या है टेस्ट चैंपियनशिप: टेस्ट चैंपियनशिप में 9 देशों की टीमें भाग लेंगी। ये सभी 9 टीमें 2 सालों के अंतराल में 6 सीरीज खेलेंगी। इसमें से 3 घर पर खेलेंगी और बाकी विदेश में। इस दौरान टीमों को कम से कम 2 टेस्ट और ज्यादा से ज्यादा 5 टेस्ट खेलने होंगे। ये सभी मैच पांच दिन के होंगे। बाद में लीग का समापन वर्ल्ड टेस्ट लीग चैंपियनशिप के फाइनल से होगा। टेस्ट चैंपियनशिप का पहला एडीशन 2019 वर्ल्ड कप के बाद से शुरू होगा और 2021 के अंत तक चलेगा।

क्या है वनडे लीग: इस लीग में 13 टीमें शामिल होंगी जो कुल 8 सीरीज खेलेंगी। लीग के पहले एडीशन में हर टीम चार घरेलू और चार सीरीज विदेशों में खेलेंगी। यह सीरीज 2020 में शुरू होगी। हर सीरीज 3 मैचों की होगी। इस लीग में अच्छा प्रदर्शन करने वाली टीमों को वर्ल्ड कप में डायरेक्ट एंट्री दी जाएगी। इसमें 12 पूर्ण सदस्य देशों के साथ मौजूदा वर्ल्ड क्रिकेट लीग चैंपियनशिप की विजेता टीम शामिल होगी। वर्ल्ड क्रिकेट लीग चैंपियनशिप एसोसिएट देशों के बीच खेला जाने वाला टूर्नामेंट है।

[ये भी पढ़ें: भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया, तीसरा टी20 (प्रिव्यू): हैदराबाद में दोनों टीमों के बीच होगी करो या मरो की जंग]

– आईसीसी चेयरमैन शशांक मनोहर के मुताबिक, इसका मतलब है कि दुनियाभर के फैन इंटरनेशनल क्रिकेट का आनंद ले सकेंगे ये देखते हुए कि इन सभी मैचों को अंतरराष्ट्रीय मैचों में गिना जाएगा। वहीं बात करें वनडे लीग की तो इसको आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप के क्वालीफिकेशन के तौर पर गिना जाएगा।

गवर्निंग बॉडी की मीटिंग के बाद मनोहर ने कहा, “इस समझौते तक पहुंचने और गेम के विकास के हित को पहले रखने के लिए मैं अपने सदस्यों को बधाई देता हूं। द्विपक्षीय क्रिकेट को संदर्भ में लाना कोई नई चुनौती नहीं है, लेकिन यह पहला मौका है जब वास्तविक समाधान पर सहमति बनी है।”

आईसीसी के मुख्य कार्यकारी डेविड रिचर्डसन ने कहा, “आज लिए गए आईसीसी बोर्ड निर्णय के मुताबिक अब हम पहले एडीशन के लिए प्लेइंग शेड्यूल और प्वाइंट सिस्टम को अंतिम रूप दे सकते हैं। साथ ही कौन मेजबानी करेगा और कंपटीशन की शर्तें क्या होंगी इस पर भी फैसला लिया जा सकता है।

– आईसीसी बोर्ड ने चार दिन के टेस्ट के ट्रायल के लिए भी 2019 वर्ल्ड कप तक अपनी सहमति दे दी है। सदस्य देश द्विपक्षीय करार के अंतर्गत चार दिन के टेस्ट मैच का आयोजन कर पाएंगे।

– नामीबिया को वर्ल्ड क्रिकेट लीग डिविजन 2 की मेजबानी दी गई है। यह टूर्नामेंट फरवरी 2018 में आयोजित किया जाएगा इसके अलावा नीदरलैंड्स को महिला वर्ल्ड टी20 क्वालीफायर 2018 का मेजबान बनाया गया है।

– आईसीसी ने ये भी कहा है कि क्रिकेट वर्ल्ड कप क्वालीफायर मार्च 2018 में जिम्बाब्वे में होगा।