ICC pay homage to Tony Lewis who bring ‘DLS method’ passes away

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने गुरुवार को गणितज्ञ टोनी लुईस के निधन पर शोक जताया जिन्होंने सीमित ओवरों के क्रिकेट में बारिश से प्रभावित मैचों के लिये डकवर्थ लुईस नियम (DLS) तैयार करने में अहम भूमिका निभाई।

लुईस का बुधवार को निधन हो गया। वह 78 साल के थे। आईसीसी के क्रिकेट महाप्रबंधक ज्योफ अलार्डिस ने कहा, ‘‘क्रिकेट में टोनी का योगदान काफी बड़ा है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में दोबारा लक्ष्य निर्धारित करने की मौजूदा प्रणाली दो दशक से भी अधिक समय पहले उनके और फ्रैंक (डकवर्थ) द्वारा विकसित प्रणाली पर आधारित है।’’

पढ़ें:- माइकल वॉन: T20 विश्‍व कप से पहले पांच सप्‍ताह का IPL हुआ तो मिल जाएगा पर्याप्‍त वार्मअप

उन्होंने कहा, ‘‘आने वाले वर्षों में भी क्रिकेट के खेल के प्रति उनके योगदान को याद किया जाएगा और हमें उनके परिवार और मित्रों के प्रति संवेदना जाहिर करते हैं।’’

लुईस ने फ्रैंक डकवर्थ के साथ मिलकर डकवर्थ-लुईस पद्धति तैयार की थी जिसे आईसीसी ने 1999 में आधिकारिक तौर पर अपनाया। डकवर्थ और लुईस की सेवानिवृत्ति के बाद स्टीवन स्टर्न इस प्रणाली से जुड़े और 2014 में इस पद्धति को डकवर्थ-लुईस-स्टर्न नाम दिया गया।

पढ़ें:- BCCI अधिकारी का प्रस्‍ताव, अगर टी20 विश्‍व कप रद्द हुआ तो अक्‍टूबर-नवंबर में हो IPL

लुईस ने शेफील्ड विश्वविद्यालय से गणित और संख्यिकी में स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण की और आक्सफोर्ड ब्रूक्स विश्वविद्यालय से सेवानिवृत्त हुए जहां वह ‘क्वांटिटेटिव रिसर्च मेथड्स’ के लेक्चरर थे। लुईस को क्रिकेट और गणित में योगदान के लिये 2010 में ब्रिटिश साम्राज्य के विशिष्ट सम्मान एमबीई से सम्मानित किया गया था।