© Getty Images
© Getty Images

अंडर 19 वर्ल्ड कप के क्वार्टरफाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को रोमांचक मुकाबले में 31 रनों से हरा दिया। पहले बल्लेबाजी करते हुए कंगारू टीम महज 127 रनों पर ऑल आउट हो गई लेकिन उसने इंग्लैंड की टीम को महज 96 रन पर आउट कर मैच को अपने नाम कर लिया। ऑस्ट्रेलिया की इस हैरतअंगेज जीत में सबसे बड़ा हाथ रहा उसके लेग स्पिनर लॉयड पोप का जिन्होंने 8 इंग्लिश बल्लेबाजों को पैवेलियन लौटाया और पूरे मैच का रुख बदल कर रख दिया।

पोप का चमत्कार

क्वींसटाउन में खेले जा रहे इस मैच में इंग्लैंड बड़ी आसानी से जीत की ओर बढ़ रहा था वो बिना विकेट खोए 47 रन बना चुका था। लेकिन जैसे ही लॉयड पोप के हाथ में गेंद आई उन्होंने कहर मचा दिया। पोप ने अपने पहले ही ओवर में दो विकेट झटक डाले। इसके बाद उन्होंने अपने दूसरे ओवर में एक बार फिर विकेट लिया। इंग्लैंड के ओपनर बैंटन बड़े तूफानी अंदाज में अर्धशतक जमा चुके थे और पोप ने उन्हें भी पैवेलियन की राह दिखा दी। देखते ही देखते इंग्लैंड के 8 बल्लेबाज पोप की फिरकी के आगे ढेर हो गए।

पोप ने 9.4 ओवर में महज 35 रन देकर 8 विकेट झटक डाले, जो कि अंडर 19 वर्ल्ड कप के इतिहास का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। पोप ने अपने ही देश के गेंदबाज जेस रेलस्टन के रिकॉर्ड को तोड़ा जिन्होंने इसी वर्ल्ड कप में पीएनजी के खिलाफ 15 रन देकर 7 विकेट झटके थे।

 

 

रवि शास्त्री ने कहा, पहले दो टेस्ट मैचों से अजिंक्य रहाणे को बाहर रखना सही था
रवि शास्त्री ने कहा, पहले दो टेस्ट मैचों से अजिंक्य रहाणे को बाहर रखना सही था

लेग स्पिनर पोप के इस चमत्कारिक प्रदर्शन के बाद उन्हें दूसरा शेन वॉर्न कहा जा रहा है। ऑस्ट्रेलियाई मीडिया में पोप की गेंदबाजी की चर्चा जोरों पर है। ऑस्ट्रेलियाई में कहा जा रहा है कि ‘नया शेन वॉर्न आ चुका है।’ ऑस्ट्रेलिया के कई पूर्व खिलाड़ी भी पोप की गेंदबाजी की तारीफ कर रहे हैं। खुद शेन वॉर्न ने भी पोप की गेंदबाजी की तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने एडिलेड में पोप से मुलाकात की थी उन्होंने जबर्दस्त प्रदर्शन किया। पोप ने अपनी गेंदबाजी पर कहा कि वो अपने इस प्रदर्शन से खुशी के मारे कांप रहे हैं और उन्हें इस पर विश्वास नहीं हो रहा है।