ICC Women’s T20 World Cup 2020: Self-belief helped make successful comeback from injury; Says Poonam Yadav
Poonam Yadav @twitter

ऊंगली के फ्रेक्चर के कारण विश्व कप में उनका खेलना भी संदिग्ध हो गया था लेकिन भारतीय लेग स्पिनर पूनम यादव ने कहा कि आत्मविश्वास ने उन्हें नई ऊर्जा दी और इसकी बानगी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले मैच में उसके प्रदर्शन में भी दिखी।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रोमांचक जीत के बाद मिताली राज ने पूनम यादव को कहा ‘गेमचेंजर

दिसंबर में टूर्नामेंट से पहले एक शिविर के दौरान यादव की ऊंगली में फ्रेक्चर हो गया था। पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया पर जीत की सूत्रधार बनी यादव अगर नहीं खेल पाती तो भारत को उसकी कमी जरूर खलती। पूनम ने 17 रन देकर चार विकेट लिए।

पूनम यादव ने आईसीसी वेबसाइट से कहा,‘मुझे नहीं पता था कि चोट इतनी बदतर हो जाएगी। चोट के बाद मैने अपनी डाइट और फिटनेस पर फोकस किया। मुझे विश्वास था कि मैं किसी भी समय गेंदबाजी कर सकती हूं। रमन सर (कोच डब्ल्यू वी रमन) ने पूछा कि क्या मैं मानसिक रूप से तैयार हूं। मैने कहां हां लेकिन मुझे शारीरिक रूप से भी तैयार रहना जरूरी था।’

इस गेंदबाज ने कहा कि उसने टी20 विश्व कप खेलने की उम्मीद कभी नहीं छोड़ी थी।

ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर एश्टन एगर ने रविंद्र जडेजा को बताया ‘रॉकस्टार’, बोले- उनकी तरह बनना चाहता हूं

उन्होंने कहा, ‘मुझे पूरा यकीन था कि मैं वापसी कर सकूंगी। अच्छी बात यह है कि विश्व कप से डेढ महीने पहले यह हादसा हुआ। ईश्वर को धन्यवाद कि जो बुरा होना था, वह पहले ही हो चुका।’

उधर भारतीय कप्तान हरमनप्रीत कौर ने पूनम यादव की तारीफ करते हुए कहा,‘वह हमेशा टीम के लिए खेलती है। उसे खेलना इतना आसान नहीं और इसके लिए संयम की जरूरत होती है। उसने शानदार प्रदर्शन किया।’