ICC World Cup 2019: Every single player in our dressing room is not playing to their full potential, sayd Faf Du Plessis
फाफ डु प्लेसिस © Getty Images

इंग्लैंड के बाद बांग्लादेश के खिलाफ मिली हार से दक्षिण अफ्रीका का विश्व कप अभियान कमजोर पड़ गया है। 10 टीमों के से आईसीसी टूर्नामेंट में अगर दक्षिण अफ्रीका को सेमीफाइनल में जगह निश्चित करनी है तो आगे के मैचों में जीत हासिल करना जरूरी है। लगातार दूसरी बार के बाद कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने माना कि उनके खिलाड़ी अपनी पूरी क्षमता के साथ नहीं खेल रहे हैं।

मैच के बाद डु प्लेसिस ने कहा, “हमें पता है कि फिलहाल हमारा प्रदर्शन पर्याप्त नहीं है। मुझे नहीं लगता इसका पहचान से कुछ लेना-देना है, फिलहाल बात काबिलियत की है। हमारे ड्रेंसिंग रूम में मौजूद हर एक खिलाड़ी अपनी पूरी क्षमता के साथ नहीं खेल रहा है।”

उन्होंने आगे कहा, “इंग्लैंड के खिलाफ और इस मैच में, दोनों ही बार हमारी योजना आक्रामक गेंदबाजी अटैक करने की थी लेकिन हम अपना सर्वश्रेष्ठ नहीं दे सके। ओपनिंग गेंदबाज सबसे पहले ये कहेंगे कि आज हमने अपनी काबिलियत का सही इस्तेमाल नहीं किया। हम हर हिस्से में कमजोर थे और ये सही नहीं है। बल्ले के साथ हम एक बार फिर अच्छे दिखे, कुछ अच्छी चीजें की लेकिन आपको शतक बनाने होते हैं, ना कि 30-40 रन, जिसमें मैं भी शामिल हूं।” कप्तान डु प्लेसिस ने 53 गेंदो पर 62 रनों की पारी खेली लेकिन टीम को जीत नहीं दिला सके।

मुझे यकीन है कि कुछ लोग हमारे क्रिकेट के बारे में अच्छा नहीं सोचते: मशरफे मुर्तजा

हालांकि दक्षिण अफ्रीका की विश्व कप जीतने की उम्मीद अब भी बाकी है। कप्तान ने कहा, “मुझे विश्वास करना होगा कि हम अब भी टूर्नामेंट जीत सकते हैं। अगर मैंने ऐसा करने से इंकार किया तो मैं दक्षिण अफ्रीकी नहीं होंगा। हम अपने खेल पर गर्व करने वाले देश से हैं। आज हम अपनी काबिलियत नहीं दिखा पाए लेकिन भारत के खिलाफ मैच में लड़ाई होगी।”

दक्षिण अफ्रीका का अगला मुकबला 5 जून को भारत के खिलाफ है, जिसे जीतना उनके लिए बेहद अहम है। लेकिन उससे पहले लगातार दो मैच हारने के लिए खिलाड़ियों को कुछ कड़े शब्द भी सुनने पड़ेंगे। इस पर कप्तान ने कहा, “मेरी कप्तानी का तरीका हमेशा ये रहा है कि एक पैमाना है और अगर आप उस पैमाने तक प्रदर्शन नहीं करते हैं तो कड़े शब्द सुनने पड़ेंगे।”

‘पाकिस्तान के खिलाफ 10 में से 9 बार जीत जाएगी टीम इंडिया’

उन्होंने कहा, “ये सख्ती का समय है और ड्रेसिंग रूम चाहता है कि आप मजबूत रहें और उन्हें प्रेरित करें। लेकिन आज का प्रदर्शन बिल्कुल अच्छा नहीं था। अगर लड़के ऐसा सोच रहे हैं कि वो इस प्रदर्शन के लिए बहाना बना सकते हैं तो उन्हें चुनौती मिलेगी और ये तय है। मैं केवल इतना कहूंगा कि हम लड़ते रहेंगे।”

कप्तान ने कहा, “मैं बेहद निराश हूं और ये दुख के साथ ये कह रहा हूं कि फिलहाल हमारे खेल का कोई भी फॉर्मेट काम नहीं कर रहा है। हम केवल 50-60 प्रतिशत क्षमता दिखा रहे हैं और ये दिखाता है कि बांग्लादेश भी हमें हरा सकता है। इसके लिए किस्मत को दोष देना कोई विकल्प नहीं है। आपको किसी तरह अच्छा प्रदर्शन करने का तरीका ढूंढना होगा और हम कुछ एरिया में गड़बड़ कर रहे हैं।”