ICC World Cup 2019: South African bowlers are not bothered by England’s flat tracks
दक्षिण अफ्रीकी टीम © AFP

विश्व कप टूर्नामेंट के मेजबान इंग्लैंड की सपाट पिचें बड़े स्कोर के लिए मशहूर हैं, ऐसे में आईसीसी टूर्नामेंट में जाने से पहले गेंदबाजों का परेशान होना स्वाभाविक है लेकिन दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाजों को ऐसी कोई समस्या नहीं है। 30 मई को शुरू होने वाले विश्व कप से पहले प्रोटियाज पेसर लुंगी एनगिडी ने कहा कि वो फ्लैट पिच को लेकर ज्यादा नहीं सोच रहे हैं, उनकी टीम का पूरा ध्यान विकेट निकालने पर होगा।

एनगिडी ने कहा, “लोगों को बड़े स्कोर देखना पसंद है, इसलिए वो उस तरह की विकेट बनाने की कोशिश करेंगे। हम सपाट पिच को लेकर ज्यादा परेशान नहीं हैं। किसी भी दिन अगर विपक्षी टीम के तीन विकेट जल्दी गिर जाते हैं तो पिच उतनी सपाट नहीं लगेगी। एक चीज जितने बारे में हम लगातार बात करते हैं वो ये कि हालात ये निर्धारित करते हैं कि आप उस दिन कैसी गेंदबाजी करेंगे। ये हमारी गेंदबाजी की लेंथ और वैरिएशन निश्चित करता है।”

उन्होंने आगे कहा, “ओटिस ( गिब्सन) ने हमें किसी भी समय गेंदबाजी करने के लिए तैयार रहना होगा। जिस तरह से हमे खेलते हैं उसका मकसद किसी भी स्टेज पर विकेट निकालना है। विपक्ष को कम स्कोर पर रोकना का यही एक तरीका है। इससे हमें जीतने का मौका मिलता है। हमारे पास ऐसे गेंदबाज हैं जो कैसे भी हालात के हिसाब से खुद को ढाल सकते हैं। इसलिए वहां जाना हमारे लिए काफी उत्साहित करने वाला है और आप बड़े स्कोर के बारे में सुनते हैं इसलिए आपको पता है कि ये काम आसान नहीं है। ये एक चुनौती है जिसे हमने स्वीकार किया है और इसके खिलाफ जाने को तैयार हैं।”

क्रिकेट न्यूज़ लाइव- जाधव हुए फिट, इंग्लैंड-बांग्लादेश ने सीरीज जीती

सीनियर गेंदबाजों इमरान ताहिर और क्रिस मॉरिस ने भी एनगिडी का समर्थन किया। उन्होंने कहा, “मैं वहां पर काफी क्रिकेट खेल चुका हूं। मुझे लगता है कि प्रतियोगिता की शुरुआत में पिच बल्लेबाजी के लिए अच्छी होंगी और जैसे जैसे टूर्नामेंट आगे बढ़ेगा स्पिन होना शुरू होगा। इंग्लैंड में हमेशा ऐसा होता है। बतौर स्पिनर, मैं काफी उत्साहित होंगा अगर मौसम वैसा ही हुआ जैसा कि बताया जा रहा है। ये अच्छी चुनौती होगी।”

वहीं ऑलराउंडर मॉरिस ने कहा, “मुझे लगता है कि विकेट बल्लेबाजों के मददगार हैं लेकिन बात आत्मविश्वास की है, खासकर कि डेथ ओवरों में। आत्मविश्वास और किस तरह से आप गेंद को देख रहे हैं और उसे हिट कर रहे हैं। और आपको आखिरी ओवरों में किस्मत की भी जरूरत होगी- एक दो किनारे आपके पक्ष में जा सकते हैं और आपको आत्मविश्वास मिल सकता है।”