ICC World cup 2019: When you go three-down on a big score like that, it becomes tough, says Faf du plessis
फाफ डु प्लेसिस (AFP)

विश्व कप के पहले मुकाबले में ही मेजबान इंग्लैंड ने बता दिया कि वो खिताब के प्रबल दावेदार किस लिए माना जा रहा है। ओवल में खेले गए इस मैच में दक्षिण अफ्रीका टीम को 104 रनों से बड़ी हार का सामना करना पड़ा। मैच के बाद हार का आकलन करते हुए कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने माना कि गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया था लेकिन बल्लेबाजों से गलतियां हुई।

मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान डु प्लेसिस ने कहा, “मुझे लगता कि पहले भाग में हमने गेंद के साथ अच्छा प्रदर्शन किया। जैसा कि मैंने मैच से पहले था इग्लैंड बाकी टीमों के मुकाबले लंबी बल्लेबाजी करती है। इसलिए अगर आप उनके बल्लेबाजी क्रम को रोक पाते हैं तो इसका मतलब है कि आप अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं। उनके लिए आखिरी 15 ओवरों में कम से कम रन बना पाना और हमारा ज्यादा से ज्यादा विकेट निकालना हमारी दोनों यूनिट के लिए बड़ी सफलता थी।”

इंग्लैंड को 311 के स्कोर पर रोक कर कप्तान डु प्लेसिस खुश थे लेकिन लक्ष्य का पीछा करते हुए टीम की योजना पूरी तरह से असफल रही। पहले दक्षिण अफ्रीका के शीर्ष क्रम बल्लेबाज हाशिम अमला चोटिल होकर पवेलियन लौटे, जिसका चेज पर नकारात्मक प्रभाव पड़ा।

इंग्‍लैंड की बड़ी जीत में चमके स्‍टोक्‍स और आर्चर, दक्षिण अफ्रीका को 104 रन से रौंदा

कप्तान ने कहा, “मुझे लगता है कि दुर्भाग्य से पारी का प्रवाह टूटना तब शुरू हुआ जब हाशिम मैदान से लौटा। जब आप 310 जैसे बड़े स्कोर का पीछा कर रहे हों तो आपको अच्छी शुरुआत की जरूरत होती है। आपको ये निश्चित करना होगा कि आप अच्छी साझेदारी के साथ ड्रेसिंग रूम को सेट रखें। चाहें एक विकेट गिर गया हो या कोई विकेट ना गिरा हो लेकिन अच्छी शुरुआत बेहद जरूरी है और जाहिर है कि उसके (अमला) आने के बाद एडेन आउट हो गया और फिर मैं आउट हो गया। जब इस तरह के बड़े स्कोर के खिलाफ आपके तीन विकेट गिर गए हों तो आप अपने बल्लेबाजी क्रम का काम मुश्किल कर देते हैं। और फिर स्कोर और बड़ा लगने लगता है, दूर लगने लगता है। वहां पहुंचना और मुश्किल लगने लगता है।”

कप्तान ने आगे कहा, “मैं आज के हमारे प्रदर्शन से जितना ज्यादा निराश हूं, मुझे ये निश्चित करना होगा कि हम इससे सीखें और हम पुरानी बातों को भूल जाएं क्योंकि फिर अगला मैच है और आपको फिर से अच्छा क्रिकेट खेलना है।”