भारतीय वनडे व टी20 कप्तान महेंद्र सिंह धोनी © Getty Images
भारतीय वनडे व टी20 कप्तान महेंद्र सिंह धोनी © Getty Images

भारतीय क्रिकेट टीम के सीमित ओवरों के कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने मंगलवार को टीम की गेंदबाजी की तारीफ की। उन्होंने कहा कि उनकी टीम के पास अब अंतिम ओवरों के लिए अच्छे गेंदबाज हैं। भारत ने काफी हद तक अंतिम ओवरों में गेंदबाजी की समस्या को सुलाझा लिया है। टीम में शामिल युवा तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने इस की कमान संभाल रखी है और अनुभवी आशीष नेहरा, हार्दिक पंड्या, रविचन्द्रन अश्विन भी अच्छी जगह गेंद डाल रहे हैं। टीम ने हाल ही में लगातार दो टी-20 श्रृंखला जीती थीं और एशिया कप में भी खिताबी जीत हासिल की थी। इन जीतों में टीम की गेंदबाजी ने अहम योगदान दिया है। ये भी पढ़ें: सचिन ने कहा था, तुम जल्द ही भारत के लिए खेलोगे: पांड्या

धोनी ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, “विश्व कप में जाने से पहले मुझे इस बात का सूकून है कि अब मुझे पहले ओवर से ही पता होता है कि अंतिम ओवरों मे कौन गेंदबाजी करेगा। पहले मेरा 99 फीसदी समय यह सोचते हुए निकल जाता था कि अंतिम ओवर में कौन गेंदबाजी करेगा।”

उन्होंने कहा, “पहले मुझे 15-16 ओवर के बाद देखना पड़ता था कि कौन अच्छी गेंदबाजी कर रहा है, इसके बाद ही मैं फैसला लेता था। अब हमारे पास अंतिम ओवरों के विशेषज्ञ गेंदबाज हैं और सभी गेंदबाज अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। इससे काफी राहत मिली है।”भारतीय कप्तान ने कहा कि भारतीय टीम की फिटनेस उसे दूसरा टी-20 विश्व कप दिलाने में अहम रोल निभाएगी। धोनी हालांकि मौजूदा टीम की फिटनेस से खुश नही हैं। ये भी पढ़ें: रोहित ने आमिर को नकारा, बुमराह के गुण गाए

धोनी ने कहा, “जहां तक तैयारियों की बात है हमने काफी अच्छे से तैयारी की है। हमने आस्ट्रेलिया और श्रीलंका के खिलाफ श्रृंखला खेलीं। एशिया कप में जीत हासिल की। इसलिए हम सही राह पर हैं लेकिन फिटनेस हमारे लिए चिंता की बात है। इसके कारण हम अंतिम 11 में खेलने वाले खिलाड़ी खो सकते हैं। अभी तक हालांकि ऐसी कोई बात नहीं है। कुल मिला कर हमारी तैयारी अच्छी है।” ये भी पढ़ें: टी20 विश्व कप 2016: इन 5 विदेशी खिलाड़ियों से सावधान रहे टीम इंडिया

धोनी ने कहा कि टीम दूसरे टी-20 विश्व कप जीतने की उम्मीदों के बोझ तले नहीं दबेगी और नॉक आउट मैचों में शीर्ष पर कायम रहने की कोशिश करेगी। उन्होंने कहा, “हम ज्यादा कुछ सोच नहीं रहे हैं। हम पिछली दो-तीन श्रृंखला में जीत हासिल कर चुके हैं, जिससे हमारा आत्मविश्वास काफी ऊंचा है। हमारी टीम हर क्षेत्र में अच्छी है लेकिन हम जैसे ही नॉक आउट दौर में पहुंचेंगे तो हमें शीर्ष पर रहना होगा नहीं तो हम टूर्नामेंट से बाहर हो जाएंगे।”

धोनी से जब पूछा गया कि क्या वह इडन गार्डन्स स्टेडियम में होने वाले फाइनल में खेलने को तैयार हैं। इस पर विश्व विजेता कप्तान का कहना था कि हम अभी फाइनल के बारे में नहीं सोच रहे हैं हमारी कोशिश शुरुआती मैचों में अच्छा प्रदर्शन करने की है। ये भी पढ़ें: भारत–पाक मैच को धर्मशाला की जगह कहीं और कराया जाए: पीसीबी

उन्होंने कहा, “हम अभी इसके बारे में नहीं सोच रहे हैं। हमें काफी दूरी तय करनी है। पहले हमें शुरुआती मैचों पर ध्यान देना होगा। हर मैच जरूरी है। हमें सफल होने के लिए धीरे और सावधानी से चलना होगा। सब कुछ शुरुआत पर निर्भर करता है। इसलिए हम फाइनल के बारे में नहीं सोच रहे हैं।”

धोनी ने कहा कि टीम इस समय अपने प्रदर्शन के शीर्ष पर है और दूसरे टी-20 विश्व खिताब के लिए तैयार है। उन्होंने कहा, “हम शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। मुझे नहीं लगता कि हमें कुछ अलग करने की जरूरत है। हम जो कर रहे हैं वो काफी है। हमारा ध्यान पहले मैच पर है।”

कप्तान का मानना है कि सभी टीम विश्व कप जीतने का दम रखती हैं। धोनी ने कहा, “हर टीम बड़ी टीम है। हर कोई बराबर है। आप किसी भी टीम को हल्के में नहीं ले सकते।”