ICC WORLD TEST CHAMPIONSHIP FINAL EXEMPTIONS AND BIO-SAFETY MEASURES
(IANS)

आईसीसी ने शनिवार को भारत और न्यूजीलैंड के बीच होने वाले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के लिए जरूरू बायो बबल नियमों का ऐलान किया है। पहला टेस्ट चैंपियनशिप फाइल मैच 18-22 जून 2021 तक साउथम्पटन के हैम्पशायर बाउल में आयोजित किया जाएगा।

इस मैच के आयोजन को यूके सरकार द्वारा 17 मई 2021 को जारी किए गए हेल्थ प्रोटेक्शन (कोरोनावायरस, इंटरनेशनल ट्रैवल एंड ऑपरेटर लायबिलिटी) (इंग्लैंड) विनियम 2021 में तहत अनुमति मिल गई है।

आयोजन के लिए तैयार किए गए बायो बबल प्रोटोकॉल के अनुसार, यूके सरकार और सार्वजनिक स्वास्थ्य इंग्लैंड की आवश्यकताओं के हिसाब से, भारतीय पुरुष टीम 3 जून 2021 को एक चार्टर फ्लाइट से एक नकारात्मक पीसीआर टेस्ट का सबूत लेकर यूके पहुचेंगी। यात्रा से पहले, स्क्वाड भारत में जैव-सुरक्षित वातावरण में 14 दिन बिता चुका होगा, जिसके दौरान उनका नियमित परीक्षण होगा। यूके पहुंचने पर, वो सीधे हैम्पशायर बाउल के परिसर में बने होटल में रुकेंगे, जहां उनका दस दिन का क्वारेंटीन शुरू होगा। लेकिन इससे पहले उनका फिर से परीक्षण किया जाएगा।

आइसोलेशन की अवधि के दौरान नियमित परीक्षण किए जाएंगे। हर एक नकारात्मक परीक्षण के साथ खिलाड़ियों को धीरे-धीरे ट्रेनिंग करने की अनुमति दी जाएगी। टीम बायो सिक्योर बबल के अंदर रहकर पहले छोटे समूहों और फिर बड़े समूह में अभ्यास करेगी।

इंग्लैंड के खिलाफ बाईलैटरल सीरीज के लिए न्यूजीलैंड की टीम पहले से ही यूके में है और टीम 15 जून को ईसीबी के बायो बबल से विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के बबल में प्रवेश करेगी। साउथम्पटन में इंट्री से पहले और बाद में खिलाड़ियों का टेस्ट किया जाएगा।