भारतीय टीम अपने आगामी इंग्लैंड दौरे के लिए वहां पहुंच चुकी है. यहां टीम इंडिया को न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का खिताबी मुकाबला खेलना है. इसके बाद एक महीने से ज्यादा समय टीम इंडिया इंग्लैंड में ही बिताकर मेजबान देश के खिलाफ 4 अगस्त से 5 टेस्ट मैचों की सीरीज का आगाज करेगी. इस समय चर्चाएं वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल मुकाबले को लेकर हैं.

इंग्लैंड रवाना होने से पहले टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) और कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पत्रकारों के सवालों का बेबाकी से जवाब दिया. इस मौके पर विराट से कई सवाल पूछे गए, जिनमें से एक यह भी था कि क्या टीम इंडिया भी यह मानती है कि वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में न्यूजीलैंड की स्थिति भारत से कुछ बेहतर होगी. क्योंकि कीवी टीम वर्तमान ने इंग्लैंड के खिलाफ उसके घर में 2 टेस्ट की सीरीज खेल रही है.

ऐसे में उसके खिलाड़ी वहां की परिस्थितियों से अभी से तालमेल बैठा रहे हैं, जबकि भारतीय टीम वहां जाकर अपने अगले कुछ दिन क्वॉरंटीन में गुजारेगी. इस सवाल का जवाब भी विराट कोहली ने पूरे विश्वास के साथ दिया. उन्होंने कहा, ‘अगर हमारे किसी भी खिलाड़ी को ऐसा लगता है कि इस मैच में कीवी टीम का पलड़ा भारी है, तो उसे इस फ्लाइट को नहीं पकड़ना चाहिए.’

यहां कप्तान कोहली भले मीडिया को संबोधित कर रहे थे. लेकिन इस सवाल का जवाब उन्होंने ऐसे दिया, जैसे वह अपने खिलाड़ियों से बात कर रहे हों. उन्होंने कहा, ‘हम इस फ्लाइट में बैठने से पहले एक ही बात जानते हैं कि भारत और न्यूजीलैंड दोनों टीमें बराबर हैं और मैच की परिस्थितियां भी दोनों टीमों के लिए एक समान होंगी.’

उन्होंने कहा, ‘पिछली बार वहां हम सीरीज शुरू होने से 3 दिन पहले पहुंचे थे, तब भी हमने शानदार खेल दिखाया था. वहां जैसी परिस्थितियां न्यूजीलैंड के लिए होंगी वैसी ही हमारे लिए भी होंगी. ऑस्ट्रेलिया की परिस्थितियां भी उनके ज्यादा अनुकूल हो सकती हैं. यह सब वैसा ही है कि आप चीजों को कैसे देखते हैं. सब कुछ अपने हाथ में ही है.’