If Australia want to change the format then we have to do it now: Greg Chappell
ग्रैग चैपल (Twitter)

पूर्व ऑस्ट्रेलिया कप्तान ग्रैग चैपल का कहना है अगर कंगारू क्रिकेट टीम को आने वाले समय में अपने घरेलू क्रिकेटर पूल को मजबूत करना है तो उन्हें शेफील्ड शील्ड में टीमें बढ़ानी होगी।

मौजूदा वक्त में सिर्फ छह टीमें इसमें हिस्सा लेती है। भारत में रणजी ट्रॉफी और विजय हजारे टूर्नामेंट जैसे घरेलू टूर्नामेंट में 38 टीमों से ज्यादा टीम खेलती हैं। ऑस्ट्रेलिया में कम टीमें खेलने से कई प्रतिभाशाली क्रिकेटरों को खेलने का मौका नहीं मिल पाता है।

पूर्व कप्तान ने कहा, “हम बड़े राज्यों को युवाओं को ऐसे ही रखने नहीं दे सकते। वो भी सिर्फ इसलिए क्योंकि इन्हें किसी स्टेज पर आकर इन खिलाड़ियों की जरूरत पड़ती है। मेरे ख्याल से ये खतरनाक है। अगर हम फॉर्मेट में परिवर्तन करना चाहते हैं तो हमें अभी से करना होगा। मेरे ख्याल से न्यू साउथ वेल्स के पास संभवत: दूसरी टीम हो सकती है।”

इंग्लिश गेंदबाज हैरी गर्नी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लिया

उल्लेखनीय है कि ऑस्ट्रेलिया के कुछ शीर्ष क्रिकेटर न्यू साउथ वेल्स से ही आते हैं। जॉश हेजलवुड, पैट कमिंस, मिशेल स्टार्क, नाथन लियोन और सीन एबॉट यहीं से आते हैं।

स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर से जैसे शीर्ष ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज भी न्यू साउथ वेल्स से आते हैं। चैपल ने कहा कि हमें युवा प्रतिभा को बढ़ाने की जरूरत है।