If Indian government feels that playing Pakistan in ICC events should stop then we’ll do so: BCCI official
India vs Pakistan (Getty Images)

भारत और पाकिस्तान के मौजूदा राजनीतिक हालात हालातों को देखते हुए आगामी विश्व कप में दोनों देशों की टीमों के बीच होने वाले लीग मैच को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई। पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद से बीसीसीआई इस मामले पर सख्त रवैया अपनाए हुए है। बोर्ड ने आईसीसी को पत्र लिखकर अपना पक्ष साफ किया । वहीं अब बीसीसीआई के एक अधिकारी ने बयान दिया है कि इस मामले पर बोर्ड भारतीय सरकार से बात कर सकता है।

ये भी पढ़ें: वीवीएस लक्ष्मण बोले, सेना सबसे पहले, क्रिकेट तो आखिर में आता है

हिदुस्तान टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक बीसीसीआई अधिकारी ने कहा, “फिलहाल इस मामले को लेकर भारतीय सरकार के साथ हमारी कोई औपचारिक बैठक नहीं हुई है। हमारे पास अभी समय है और सही समय आने पर हम फैसला लेंगे। बाईलैटरल सीरीज तो पहले ही रद्द हैं और अगर हमारी सरकार को लगता है कि मल्टी-नेशन टूर्नामेंट्स में भी हमें पाकिस्तान के खिलाफ नहीं खेलना चाहिए तो इस पर अमल किया जाएगा। लेकिन फिलहाल मैं यहीं कहूंगा कि हमने विश्व कप मुकाबले पर कोई बात नहीं की है।”

ये भी पढ़ें:  ‘पाकिस्तान से विश्व कप में नहीं खेलकर भारत को होगा नुकसान’

14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले में 40 भारतीय जवान शहीद हुए थे। जिसके बाद बीसीसीआई ने पाकिस्तान को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से अलग करने की मांग वाला पत्र आईसीसी को लिखा। भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने भी साफ कहा कि टीम देश के साथ है और लोगों को जो सही लगेगा, वही किया जाएगा।

हालात तो ये हैं कि प्रशासकों की समिति के एक सदस्य ने विदेशी खिलाड़ियों को आईपीएल और पीएसएल में से किसी एक लीग को चुनने का विकल्प देने की बात कही थी। हालांकि बोर्ड की आम बैठक में सीओए के बाकी दो सदस्यों ने इसे गलत करार देकर रद्द कर दिया। उनका मानना है कि विदेशी खिलाड़ियों को दो देशों के निजी मामले में शामिल करना सही नहीं है।