भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के लिए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2020 बेहद अहम था. धोनी इस लीग के जरिए टीम इंडिया में वापसी करने वाले थे. कोविड-19 वैश्विक महामारी के चलते आईपीएल को 15 अप्रैल तक के लिए टाल दिया गया है जिसे 29 मार्च से होना था. मौजूदा हालात को देखते हुए आईपीएल के आयोजन पर संशय के बादल मंडरा रहे हैं.

‘महेंद्र सिंह धोनी भारतीय क्रिकेट को अभी बहुत कुछ दे सकते हैं, उनपर रिटायरमेंट का दबाव मत बनाओ’

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान के श्रीकांत ने कहा है कि अगर आईपीएल नहीं होता है तो धोनी के लिए टी-20 विश्व कप खेलने की संभावनाएं काफी कम रह जाएंगी.

श्रीकांत ने एक टीवी शो पर कहा, ‘मैं कूटनीतिक बातें नहीं करूंगा. अगर मैं चयन समिति का अध्यक्ष होता तो मैं क्या करता इस लिहाज से मैं अपनी बात रखता. अगर आईपीएल नहीं होता है तो उनकी टीम में आने की संभावनाएं बहुत कम हैं क्योंकि मेरी नजर में केएल राहुल विकेटकीपर-बल्लेबाज होंगे. रिषभ पंत को लेकर थोड़ी शंका होगी लेकिन वो बेहतरी प्रतिभा के धनी हैं.’

Covid-19 Lockdown में घास काटने को मजबूर MS Dhoni, जानिए क्या काम कर रहे हैं आपके पसंदीदा क्रिकेटर्स

धोनी लगभग 9 महीने से प्रतिस्पर्धी क्रिकेट से दूर हैं. उन्होंने अपना अंतिम मैच पिछले वर्ष जुलाई में वनडे वर्ल्ड कप का सेमीफाइनल मैच न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था.

बकौल श्रीकांत, ‘इसलिए मैं उन्हें टीम में रखूंगा, लेकिन अगर आईपीएल नहीं होता है तो धोनी के लिए टी-20 विश्व कप टीम में वापसी करना मुश्किल होगा. वह पूरी तरह से फिट हैं, वह महान खिलाड़ी हैं, मैं उनका बड़ा प्रशंसक हूं. लेकिन विश्व कप टीम के लिए सवाल है कि टीम पहले आनी चाहिए.’