×

अगर केन विलियमसन भारतीय होते तो टेस्ट प्लेइंग इलेवन में अजिंक्य रहाणे की जगह खेलते: मोंटी पनेसर

पूर्व स्पिनर मोंटी पनेसर का कहना है कि भारत और इंग्लैंड के बीच होने वाले टेस्ट सीरीज में मेहमान टीम बेहतर प्रदर्शन करेगी।

पूर्व इंग्लिश कप्तान माइकल वॉन (Michael Vaughan) ने हाल ही में दिए एक बयान में कहा था कि अगर केन विलियमसन (Kane Williamson) भारतीय होते तो उन्हें विश्व का सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज कहा जाता लेकिन फिलहाल लोग इस उपाधि का इस्तेमाल सिर्फ विराट कोहली (Virat Kohli) के लिए करते हैं। वॉन ने जोर देकर कहा था कि विलियमसन कोहली की बराबरी के खिलाड़ी हैं लेकिन उन्हें भारतीय कप्तान जितनी प्रशंसा नहीं मिलती।

अब इंग्लैंड के ही पूर्व स्पिनर मोंटी पनेसर (Monty Panesar) ने वॉन के बयान से सहमति जताई है। पनेसर का भी मानना है कि अगर विलियमसन के पास कोहली जैसे लाखों-करोड़ों प्रशंसक होते तो लोग उन्हें सर्वश्रेष्ठ कहते।

वॉन की कप्तानी में खेल चुके पनेसर ने कोहली को विलियमसन की तुलना में थोड़ा अधिक दर्जा दिया और बताया कि कैसे विलियमसन एक भारतीय होते, तो वो भारत की टेस्ट इलेवन में किसी अन्य भारतीय बल्लेबाज के स्थान पर होते।

स्पोर्ट्स यारी से बातचीत में पनेसर ने कहा, “मुझे लगता है कि दोनों बहुत अच्छे हैं। दोनों ही किसी भी स्थिति में टीम को संभाल सकते हैं। अगर आप T20I और ODI को देखें, तो विराट कोहली सर्वश्रेष्ठ हैं। लेकिन केन विलियमसन तीनों फॉर्मेट में समान रूप से अच्छा खेलते हैं। मुझे लगता है कि उनका स्तर रोहित शर्मा से ऊपर है लेकिन विराट कोहली से थोड़ा नीचे है। अगर केन भारतीय होते, तो शायद वो टेस्ट बल्लेबाजी क्रम में अजिंक्य रहाणे के लिए रिप्लेसमेंट होते।”

पनेसर ने आगे बताया कि वो आगामी टेस्ट सीरीज में इंग्लैंड को 5-0 से हराने के लिए भारत का समर्थन करेंगे। उन्होंने कहा, “पहला कारण ये है कि मैच अगस्त में शुरू होंगे, जिसमें साल का सबसे गर्म मौसम होता है। दूसरा कारण ये है कि कम समय में पांच टेस्ट मैच हो रहे हैं और भारत ऐसे हालातों में अच्छा खेलता है। तीसरा कारण ये कि भारत के सीम विकल्प शानदार हैं। पहले ऐसा नहीं था। और सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि एलिस्टेयर कुक के संन्यास लेने के बाद से इंग्लैंड की शीर्ष क्रम की बल्लेबाजी अच्छी नहीं रही है।”

trending this week