Ajit Agarkar: If players test negative, we can think of allowing use of saliva
ajit agarkar © IANS

भारतीय टीम के पूर्व तेज गेंदबाज अजीत अगरकर (Ajit Agarkar)  का मानना है कि कोविड-19 महामारी के कारण लार पर प्रतिबंध सुरक्षित खेल के लिए जरूरी है लेकिन इस बीमारी की जांच में सामान्य रहने पर आईसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) को इसके इस्तेमाल की छूट देने पर विचार करना चाहिए।

अगरकर ने क्रिकेट में लार के महत्व का जिक्र करते हुए कहा कि यह गेंदबाजों के लिए उतनी ही जरूरी है ,जितना बल्लेबाजों के लिए बल्ला जरूरी होता है।

अफरीदी के कोरोना संक्रमण को फैन ने बताया -कुकर्मों की सजा मिली, आकाश चोपड़ा ने लगाई लताड़, बोले…

आईसीसी का यह प्रतिबंध आठ जुलाई से इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच खेली जानी वाली तीन टेस्ट की सीरीज से लागू होगा। कोविड-19 महामारी के कारण पिछले तीन महीने में यह पहली टेस्ट श्रृंखला होगी।

भारत के लिए 191 एकदिवसीय और 26 टेस्ट खेलने वाले अगरकर ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘ मेरी चिंता इस बात को लेकर है कि मैच शुरू होने से पहले खिलाड़ियों की जांच की जाएगी। अगर वह कोविड-19 से संक्रमित नहीं है तो आप लार के इस्तेमाल पर विचार कर सकते है। यह मेरा विचार है और इस मुद्दे पर चिकित्सा क्षेत्र का कोई जानकर बेहतर जानकारी दे सकता है।’’

पूर्व गेंदबाज ने हालांकि माना कि मौजूदा परिस्थितियों में आईसीसी की क्रिकेट और चिकित्सा समिति के पास प्रतिबंध के अलावा कोई और विकल्प नहीं था।

‘‘ गेंद को चमकाना बहुत महत्वपूर्ण है और इसके लिए कोई दूसरा तरीका मौजूद नहीं है लेकिन समितियों (आईसीसी की क्रिकेट एवं चिकित्सा समिति) के लिए यह एक मुश्किल है फैसला होगा।’’

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 349 विकेट लेने वाले 42 साल के इस गेंदबाज ने कहा, ‘‘ जाहिर है उन्होंने एक सुरक्षित तरीका अपनाया है और मौजूदा स्थिति में यह समझ में आता है। हमें एक बार इंग्लैंड की श्रृंखला के खत्म होने का इंतजार करना होगा। यह गेंदबाजों के लिए आसान नहीं होने वाला है लेकिन हमें इंतजार करना पड़ेगा।’’

रवींद्र जडेजा की फील्डिंग के कायल हैं स्‍टीव स्मिथ, लाइव चैट में केएल राहुल के लिए कही ये बात

अगरकर ने कहा कि क्रिकेट में पहले से ही ‘बल्लेबाजों के पक्ष में है’, लार पर प्रतिबंध से तेज गेंदबाजों की स्थिति और दयनीय होगी।

एकदिवसीय क्रिकेट में भारत की ओर से सबसे ज्यादा विकेट लेने वालों की सूची में तीसरे स्थान पर काबिज अगरकर ने कहा, ‘‘ अगर आप किसी भी गेंदबाज से पूछेंगे, तो हर कोई थोड़ा आशंकित होगा। हाल के दिनों में हालांकि पिच गेंदबाजों के लिए काफी मददगार रही है, जो थोड़ा अधिक संतुलन बिठाता है। कुल मिलाकर अगर आप देखें तो इस समय बल्लेबाज विश्व क्रिकेट पर हावी हैं।’’