impossible australian bowlers did not know of ball tampering says fanie de villiers
फैनी डिविलियर्स @ICCTwitter

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट जगत में एक बार फिर बॉल टैम्परिंग के उस तीन साल पुराने कांड ने हिलोरे लेने शुरू कर दी हैं. बॉल टैम्परिंग का हिस्सा रहे कैमरून बेनक्राफ्ट ने हाल ही में यह कहकर ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट को एक बार फिर झकझोर दिया था कि केप टाउन टेस्ट में बॉल टैम्परिंग की बात उनकी टीम के गेंदबाजों को भी मालूम थी. हालांकि उसके चार गेंदबाजों ने यह कहकर इससे पल्ला झाड़ लिया है कि उन्हें इसकी कोई जानकारी नहीं थी. साउथ अफ्रीका के पूर्व तेज गेंदबाज फैनी डिविलियर्स इस पर हैरानी जताई है.

साउथ अफ्रीका के इस पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा है कि यह पूरी तरह से असंभव है कि ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को बॉल टेम्परिंग मामले की जानकारी नहीं थी. डिविलियर्स उस मैच में कॉमेंट्री टीम का हिस्सा थे और उन्होंने टेलीविजन क्रू को सतर्क कर दिया था, जिसके कारण अंतत: कैमरन बैनक्रॉफ्ट को गेंद पर एक विदेशी वस्तु (सैंड पेपर) का उपयोग करते हुए कैमरों में कैद कर लिया गया.

डिविलियर्स ने द इंडियन एक्सप्रेस से कहा, ‘यह पूरी तरह से असंभव है कि गेंदबाजों को यह पता ही नहीं था कि गेंद के साथ क्या चल रहा है. आप वह व्यक्ति हैं जो इसे देख रहे है, आप वह व्यक्ति हैं जो इसे साफ कर रहे हैं, आप वह व्यक्ति हैं जो वास्तव में जानते हैं कि एक पक्ष (गेंद) को देख रहा है और दूसरे पक्ष को विकेट पर घास की वजह से यह नहीं दिखता है. यह बिल्कुल बकवास है.’

साउथ अफ्रीका के लिए 18 टेस्ट और 83 वनडे मैचों में 180 विकेट ले चुके डिविलियर्स ने आगे कहा कि ऑस्ट्रेलियाई सिस्टम ने इस मामले को अच्छी तरह से नहीं देखा. उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि निश्चित रूप से वह इस बारे में जानते थे. और ऑस्ट्रेलियाई सिस्टम ने शुरू से ही इस मामले को अच्छी तरह से नहीं देखा.

उन्हें इसे अलग तरीके से हल करना चाहिए था और उन्हें हर किसी की तह तक जाना चाहिए था. यह एक संयुक्त प्रयास था और इस बारे में कोच जानते थे; सिस्टम में हर कोई जानता था क्योंकि आप टीम में इन चीजों को पहले नहीं छिपाते हैं, और दूसरी बात यह है कि एक गेंदबाज के लिए यह जानना असंभव है क्योंकि वह अंतर देख सकता है.’

ऑस्ट्रेलिया के चार गेंदबाजों-पैट कमिंस, मिशेल स्टार्क, नाथन लियोन और जोश हेजलवुड ने एक संयुक्त बयान जारी कर कहा है कि उन्हें 2018 में केप टाउन में साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट के दौरान हुई गेंद से छेड़छाड़ मामले की कोई जानकारी नहीं थी. कमिंस, स्टार्क, लियोन और हेजलवुड बॉल टैम्परिंग वाले टेस्ट में

ऑस्ट्रेलियाई अंतिम एकादश टीम का हिस्सा थे.

इन चारों का बयान ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज बैन बैनक्रॉफ्ट के उस बयान के बाद आया है, जिसमें बैनक्रॉफ्ट ने हाल ही में कहा था कि साउथ अफ्रीका में हुई टेस्ट सीरीज के दौरान हुए बॉल टैम्परिंग योजना के बारे में गेंदबाजों को पहले से ही जानकारी थी.

2018 में साउथ अफ्रीका दौरे पर केप टाउन टेस्ट के दौरान बल्लेबाज बैनक्रॉफ्ट कैमरे में गेंद से छेड़खानी करते हुए पकड़े गए थे. इसमें तत्कालीन कप्तान स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर भी शामिल थे. बाद में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने बैनक्रॉफ्ट पर 9 महीने का जबकि वॉर्नर और स्मिथ पर 12-12 महीने का प्रतिबंध लगा दिया था.