ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज में विराट कोहली (Virat Kohli) नहीं होंगे. विराट की टीम इंडिया में क्या अहमियत है वह क्रिकेट एक्सपर्ट्स की चिंताओं से साफ जाहिर हो रही है. अब ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ज्यॉफ लॉसन ने भी इस मुद्दे पर अपनी राय रखी है. उन्होंने कहा भारतीय टीम में विराट का न होना बिल्कुल वैसा ही होगा, जैसे पिछली बार ऑस्ट्रेलियाई टीम स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर के बिना खेली थी.

कप्तान विराट कोहली इस सीजन पहले टेस्ट मैच के बाद पितृत्व अवकाश पर भारत लौट आएंगे. सीरीज का पहला टेस्ट एडिलेड में 17 दिसंबर से शुरू होगा, जो पिंक बॉल (डे-नाइट) टेस्ट है. लॉसन ने ऑस्ट्रेलियाई अखबार सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड में लिखे अपने कॉलम में कहा, ‘विराट कोहली के बिना टीम इंडिया टेस्ट में खेलना बिल्कुल वैसा ही है, जैसे पिछली बार ऑस्ट्रेलिया स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर के बिना खेली थी. विराट न केवल रन बनाते हैं बल्कि वह पूरी टीम से मानसिक दबाव भी कम करते हैं.’

इस पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा, ‘पिछली बार की तुलना में इस बार ऑस्ट्रेलिया काफी मजबूत है. उन्होंने इंग्लैंड और फिर न्यूजीलैंड को हराया है. इसके अलावा पिछली गर्मियों में उन्होंने पाकिस्तान को टक्कर दी थी. नया इंटरनेशनल सीजन शुरू होने से पहले वह नंबर 1 पर पहुंचा है और उसके पास बैटिंग में इस बार काफी विकल्प हैं.

उन्होंने कहा कि इस बार भारतीय टीम को इतिहास दोहराने की फिर उम्मीद होगी. दो साल पहले उन्होंने पहली बार ऑस्ट्रेलियाई जमीन पर बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी पर कब्जा जमाया था. वे इसका बचाव करना चाहेंगे. विराट की कप्तानी में टीम इंडिया ने पहली बार ऑस्ट्रेलिया को टेस्ट सीरीज में उसके घर में हराया था. ऐसा करने वाली वह एशिया की पहली टीम बनी थी.