IND vs AUS, 1st TEst: Australia beats India vs 8 wicket, maintain its unbeaten record in day night test
Australia Cricket Team @ Twitter

एडिलेड टेस्‍ट में खेले गए डे-नाइट टेस्‍ट में भारत को मेजबान ऑस्‍ट्रेलिया से आठ विकेट से शर्मनाक हार झेलनी पडी। दिन का खेल शुरू हुआ तो ऐसा माना जा रहा था कि भारत कंगारू टीम के उपर बडी बढत बनाएगा लेकिन सके उलट पूरी टीम 36/9 रन ही बना पाई। ये एक पारी के दौरान भारतीय टीम का टेस्‍ट क्रिकेट में सबसे छोटा स्‍कोर है।

भारत ने विदेशी धरती पर आज अपना पहला डे-नाइट टेस्‍ट मैच गंवाया है। इसके साथ ह ऑस्‍ट्रेलिया को चार मैचों की टेस्‍ट सीरीज में 1-0 से बढत मिल गई है।

Jasprit Bumrah को नाइट वॉचमैन के रूप में भेजने से पूर्व भारतीय स्पिनर हुआ नाराज, बोले- वो जूतों में….

जोश हेजलवुड  ने पांच ओवर में आठ रन देकर पांच विकेट निकाले और पैट कमिन्स  ने 10.2 ओवर में 21 रन देकर चार विकेट लिए। मोहम्मद शमी को चोटिल होने के कारण क्रीज छोड़नी पड़ी जिससे पारी वहीं पर समाप्त हो गयी। भारत को पहली पारी में 55 रन की बढ़त मिली थी और इस तरह से ऑस्‍ट्रेलिया को जीत के लिये 90 रन का लक्ष्य मिला। ऑस्‍ट्रेलिया ने आसानी से 21 ओवर में दो विकेट पर 93 रन बनाकर  जीत दर्ज की। इसके साथ ही उनका अपने घर में डे-नाइट टेस्‍ट जतने का रिकॉर्ड भी बरकरार है।

Mohammad Amir की तरह मुझे भी PCB ने किया था परेशान, Shoaib Akhtar ने बताई आपबीती

भारत का इससे पहले न्यूनतम स्कोर 42 रन था जो उसने 1974 में इंग्लैंड के खिलाफ लार्ड्स में बनाया था। टेस्ट क्रिकेट में न्यूनतम स्कोर का रिकार्ड न्यूजीलैंड के नाम पर है जिसने 1955 में इंग्लैंड के खिलाफ आकलैंड में 26 रन बनाये थे। विराट कोहली की टीम का स्कोर टेस्ट क्रिकेट में संयुक्त पांचवां न्यूनतम स्कोर है।

भारत की परेशानी यहीं पर समाप्त नहीं हुई है। तेज गेंदबाज शमी की कलाई पर चोट लग गयी है और वह श्रृंखला से बाहर हो सकते हैं। पैट कमिन्स की उठती हुई गेंद उनकी कलाई पर लगी जिसके बाद उन्हें मैदान छोड़ना पड़ा। इस तरह से भारतीय पारी 21.2 ओवर में समाप्त हो गयी।

शमी की कमी भारत को गेंदबाजी में खली। ऑस्‍ट्रेलियाई गेंदबाजों ने जहां अपनी तेजी और अतिरिक्त उछाल से बल्लेबाजों को परेशान किया वहीं भारतीय गेंदबाज पहली पारी की तरह ऑस्‍ट्रेलियाई बल्लेबाजों पर विशेष प्रभाव नहीं छोड़ पाये। ऑस्‍ट्रेलिया ने भारत के 244 रन के जवाब में अपनी पहली पारी में 191 रन बनाये थे।

ऑस्‍ट्रेलिया के लिये सलामी बल्लेबाज जो बर्न्स (नाबाद 51) का फार्म में लौटना एक और अच्छी खबर रही जिन्होंने मैथ्यू वेड (33) के साथ पहले विकेट के लिये 70 रन जोड़े। वेड रन आउट हुए जबकि रविचंद्रन अश्विन ने मार्नस लाबुशेन (छह) को मिडविकेट पर कैच कराया लेकिन इससे हार का अंतर ही कुछ कम हुआ।

एक समय भारत का स्कोर आठ विकेट पर 26 रन था और वह टेस्ट क्रिकेट के न्यूनतम स्कोर की बराबरी करने की स्थिति में दिख रहा था लेकिन हनुमा विहारी (आठ) के चौके से टीम क्रिकेट इतिहास के सबसे खराब रिकार्ड की बराबरी करने से बच गयी।

IND vs AUS: महज एक टेस्‍ट खेलकर भी Virat Kohli तोड़ सकते हैं सचिन-लारा-पोंटिग का ये बड़े रिकॉर्ड

ऑस्‍ट्रेलियाई तेज गेंदबाजों की अतिरिक्त उछाल वाली गेंदों के सामने भारतीय बल्लेबाजी की कमजोरी खुलकर सामने आ गयी। गेंदबाजों ने गेंद की सीम का अच्छा इस्तेमाल किया। तेज और उछाल भरी गेंदों के सामने भारतीय पारी ताश के पत्तों की तरह बिखर गयी। भारत का कोई भी बल्लेबाज दोहरे अंक में नहीं पहुंच पाया।

नाइटवाचमैन जसप्रीत बुमराह (दो) के पहले ओवर में आउट होने के बाद हेजलवुड और कमिन्स ने भारत की मजबूत कहे जाने वाली बल्लेबाजी का दंभ निकालने में कसर नहीं छोड़ी।

मयंक अग्रवाल (नौ), चेतेश्वर पुजारा (शून्य) और अजिंक्य रहाणे (शून्य) तीनों ने एक ही तरह से अपने विकेट गंवाये। इन तीनों के लिये गेंद कोण लेकर आयी जिसमें थोड़ी उछाल थी और जो बल्ले को चूमकर विकेटकीपर टिम पेन के दस्तानों में समायी।

कप्तान विराट कोहली (चार) ने आफ स्टंप से बाहर जाती गेंद को ड्राइव करने की कोशिश में गली में कैच दिया। इंग्लैंड में 2014 में वह इस तरह से आउट हुए थे। ऋद्धिमान साहा (चार) और अश्विन (शून्य) के आउट होने से स्कोर आठ विकेट पर 26 रन हो गया। विहारी भी विकेट के पीछे कैच देने से दोहरे अंक में नहीं पहुंच पाये।