IND vs AUS: Justin Langer wants I won’t ignore criticism after defeat against India
justin Langer @ Twitter

भारत के हाथों ऑस्‍ट्रेलिया की टेस्ट श्रृंखला में हार के बाद आलोचकों के निशाने पर रहे टीम के मुख्य कोच जस्टिन लैंगर (Justin Langer) ने उनकी कोचिंग शैली की आलोचनाओं को ‘चेतावनी’ करार देते हुए कहा कि वह इन्हें नजरअंदाज नहीं करेंगे।

भारतीय टीम ने कई खिलाड़ियों के चोटिल होने के बावजूद ऑस्‍ट्रेलिया की मजबूत टीम के खिलाफ चार मैचों की श्रृंखला 2-1 से जीती थी। ‘सिडनी मार्निंग हेरल्ड’ के अनुसार राष्ट्रीय टीम के कुछ खिलाड़ी लैंगर की कोचिंग शैली से खुश नहीं हैं।

पठान ने की इस स्पिन गेंदबाज को खिलाने की वकालत, बोले- हर दिन यूं बाएं हाथ के गेंदबाज नहीं मिलेंगे

लैंगर ने इस रिपोर्ट को बकवास करार दिया लेकिन उन्होंने आलोचनाओं को शानदार उपहार के तौर पर स्वीकार किया। उन्होंने कहा, ‘‘मैं निश्चित तौर पर इसको नजरअंदाज नहीं कर रहा हूं और यह मेरे लिये एक चेतावनी है। जब भी मैं अपने कोचिंग करियर का समापन करूंगा उम्मीद है कि तब भी खुद को नौसिखिया कोच ही कहूंगा। मैं इन आलोचनाओं को अगले कुछ सप्ताह या महीनों तक शानदार उपहार के तौर पर लूंगा।’’

Ajinkya Rahane बोले Rahul Dravid ने मेलबर्न और ब्रिसबेन टेस्‍ट के बाद मुझे मैसेज किया, कही थी ये बात

इस पूर्व सलामी बल्लेबाज के अनुबंध में अभी 18 महीने का समय बचा है। उन्होंने कहा, ‘‘मेरी जिंदगी के सबसे अच्छे मेंटोर वे लोग हैं जो मुझसे सच्ची बात कहते हैं और मेरी आलोचना करने से नहीं हिचकिचाते हैं। मुझे हमेशा इस तरह की ईमानदार प्रतिक्रिया चाहिए। हो सकता है कि कभी मुझे यह अच्छा न लगे लेकिन यह उपयोगी होती है।’’