भारत और ऑस्‍ट्रेलिया (India vs Austraia) के बीच जारी टेस्‍ट सीरीज के दौरान बायो-बबल (Bio Bubble) के सख्‍त नियमों को लेकर पैदा हुआ विवाद लगातार बढ़ता ही जा रहा है. बताया जा रहा है कि क्‍वीन्‍सलैंड प्रांत के ब्रिसबेन शहर में होने वाले मुकाबले में भारतीय टीम सख्‍त क्‍वारंटाइन नियमों के चलते नहीं खेलना चाहती है. पेश मामले में अब संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar) का बयान सामने आया है जो आग में घी डालने जैसा है.

संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar) ने सोशल मीडिया के माध्‍यम से इस मामले में अपनी प्रतिक्रिया दी. उन्‍होंने लिखा, “ये सच में काफी आसान है. या तो आप खुद को चयन प्रक्रिया से बाहर कर लें. अन्‍यथा क्‍वारंटाइन नियमों का पालन करे. आप दोनों चीजों को एक साथ नहीं रख सकते हैं.”

भारत और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच तीसरा मैच क्‍वीन्‍सलैंड प्रांत के ब्रिसबेन शहर में गाबा मैदान पर होना है. टीम इंडिया वहां नहीं खेलना चाहती है क्‍योंकि ब्रिसबेन में बायो-बबल और क्‍वारंटाइन को लेकर नियम बेहद सख्‍त हैं. क्‍वीन्‍सलैंड सरकार के एक मंत्री ने हाल ही में बयान दिया है कि अगर भारतीय क्रिकेट टीम सख्‍त क्‍वारंटाइन नियमों का पालन नहीं कर सकती है तो उन्‍हें वहां आने की जरूरत नहीं है.

भारतीय टीम के खिलाडी पहले ही मेलबर्न में बायो-बबल नियमो का उल्‍लंघन करने के आरोप झेल रहे हैं. रोहित शर्मा, पृथ्‍वी शॉ, रिषभ पंत, नवदीस सैनी, शुबमन गिल को मामला सामने आने के बाद आइसोलेट कर दिया गया था. हालांकि बताया जा रहा है कि अब उन्‍हें सिडनी टेस्‍ट में खेलने की इजाजत दे दी गई है.