कोलकाता टेस्‍ट में हार के साथ बांग्‍लादेश की टीम ने रविवार को टेस्‍ट सीरीज में 0-2 से हार के साथ भारत दौरे के अंत किया. मेहमान टीम को दोनों ही मुकाबलों में एकतरफा हार का सामना करना पड़ा. हार के बाद कप्‍तान मोमिनुल हक ने स्‍वीकार किया कि टॉस जीतकर पहले बल्‍लेबाजी करना गलता फैसला था।

पढ़ें:- मैच के बाद विराट बोले- मुझे लग रहा था मैन ऑफ मैन मुझे ही मिलेगा लेकिन….

मेहमान टीम के कप्‍तान ने हालांकि यह भी स्‍वीकार किया कि हमारे टॉस जीतने या हारने से कोई खास असर नहीं पड़ता. मोमिनुल हक ने कहा कि हमने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी की. अगर हम पहले गेंदबाजी करते तो भी यही स्थिति होती.

“टीम ने खेहद खराब प्रदर्शन किया जिसके चलते उन्‍हें दोनों ही मैचों में हार झेलनी पड़ी. हमारी टीम को दो मैचों से काफी कुछ सीखने की जरूरत है. दोनों टीमों के बीच का अंतर चिंता की बात है. हमें इन दो मैचों में मिली हार से सीखना होगा और आत्ममंथन करना होगा कि आखिरकार ऐसा क्यों हुआ. पिंक बॉल से खेलना चुनौती थी और हमने इस चुनौती को नई गेंद से स्वीकार किया.”

ढ़ें:- अंबाती रायडू के विवादित ट्वीट पर अजहरुद्दीन ने दिया जवाब, कहा- हताशा हैं वो अब…

“अगर हम हारते हैं तो कोई बात नहीं लेकिन हमारे लिए कुछ सकारात्मक बातें रहीं. इबादत ने अच्छी गेंदबाजी की. रियाद भाई और मुशफिकुर भाई ने अच्छी बल्लेबाजी की.”

कोलकाता में भारत ने बांग्‍लादेश की टीम टॉस जीतकर पहले बल्‍लेबाजी करते हुए महज 106 रनों पर ऑलआउट हो गई थी. जवाब में भारतीय ने कप्‍तान विराट कोहली के शतक के दम पर बोर्ड पर 347 रन ठोक दिए. मेहमान टीम दूसरी पारी में भी कुछ खास नहीं कर पाई और 195 रन पर ऑलआउट हो गई.