भारत के खिलाफ दूसरे वनडे में 337 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड ने आसानी से यह मैच 6 विकेट से अपने नाम कर लिया. 337 रनों का लक्ष्य इंग्लैंड के लिए इस मैच में किसी भी मौके पर चुनौतीपूर्ण नहीं दिखा और भारतीय स्पिनरों की जमकर हुई पिटाई ने उसकी यह राह और आसान कर दी. इंग्लैंड की ओर से उसके टॉप 3 बल्लेबाजों ने निर्णायक पारियां खेलकर उसकी जीत तय कर दी थी. बाद में डेविड मलान और लियाम लिविंगस्टोन की जोड़ी ने 39 बॉल शेष रहते यह मैच अपने नाम कर लिया. जॉनी बेयरस्टो (124) ने शानदार शतक अपने नाम किया, तो इसके अलावा जेसन रॉय (55) और बेन स्टोक्स (99) रन की उम्दा पारी खेली. यह हैं इस मैच में भारत की हार के 5 कारण.

शुरुआती 10 ओवर में सिर्फ 41 रन

इंग्लैंड की टीम ने एक बार फिर यहां टॉस जीता और फिर से फील्डिंग का फैसला किया. भारत की पिछली जीत के हीरो शिखर धवन इस बार 4 रन बनाकर ही आउट हो गए. रोहित शर्मा भी 9वें ओवर में सिर्फ 25 रन बनाकर आउट हुए. सैम करन और रीच टॉपली ने दोनों ओपनर्स को पवेलियन भेजा. इसके चलते भारतीय टीम पहले पावरप्ले में सिर्फ 41 रन ही बना पाई.

बड़ी पारी नहीं खेल पाए कप्तान विराट कोहली

विराट शानदार लय में चल रहे हैं और उन्होंने यहां एक बार फिर 66 रन की बेहतरीन पारी खेली. लेकिन नवंबर 2019 से ही अपने शतक का इंतजार कर रहे विराट एक बार फिर चूक गए. अगर वह यहां शतक जमाते तो भारतीय टीम का स्कोर कुछ और बड़ा हो सकता था, जिससे भारतीय गेंदबाजों को इंग्लैंड के विकेट झटकने का मौका मिल सकता था. हालांकि यहां केएल राहुल ने शतक जरूर जमाया था. लेकिन वह 108 के स्कोर पर ही आउट हो गए. वैसे पंत और हार्दिक पांड्या की तेज पारियों की बदौलत भारत ने आखिरी 10 ओवर में 126 रन कूटे थे. लेकिन इंग्लैंड के धाकड़ बल्लेबाजों के सामने यह टारगेट बौना ही साबित हुआ.

35 ओवरों तक कोई विकेट नहीं ले पाए भारतीय गेंदबाज

भारतीय गेंदबाज इंग्लैंड के बल्लेबाजों के खिलाफ कोई भी जादू नहीं बिखेर पा रहे थे. पारी के 17वें ओवर में उन्हें जो पहला विकेट मिला था. वह रोहित शर्मा की बेहतरीन फील्डिंग के दम पर मिला था. इसके बाद 36वें ओवर में बेन स्टोक्स को भुवनेश्वर कुमार 99 रन पर आउट कर भारत को दूसरी सफलता जरूर दिलाई लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी. इसके बाद इंग्लिश टीम ने जल्दी-जल्दी प्रसिद्ध कृष्णा के खिलाफ 2 विकेट और गंवा दिए लेकिन तब तक मैच उसकी गिरफ्त में आ चुका था.

भारतीय स्पिनरों को जमकर धोया, 16 ओवर में लूटे 156 रन

कभी जमाने पहले ऐसा माना जाता था कि इंग्लिश टीम स्पिनरों को ठीक से नहीं खेल पाती है. लेकिन इंग्लैंड की टीम को देखकर आज ऐसा नहीं लगा. उन्होंने भारतीय स्पिनरों की जमकर धुनाई की. भारतीय स्पिन गेंदबाजों में कुलदीप यादव और क्रुणाल पांड्या की जोड़ी के खिलाफ उन्होंने खूब रन लूटे. कुलदीप ने 10 ओवर में 84 तो क्रुणाल ने मात्र 6 ओवर में 72 रन (कुल 156) लुटाए. भारत के हाथ से मैच छिनता ही चला गया.

इंग्लैंड की टीम ने बरसाए 20 छक्के

इंग्लैंड की टीम आज अलग ही मूड के साथ उतरी थी. उसके टॉप 3 बल्लेबाजों ने ही भारत से यह मैच छीन लिया था. बेयरस्टो ने बेहतरीन 124 रन ठोके. इसके अलावा बेन स्टोक्स ने 99 और जेसन रॉय ने 55 रन की उम्दा पारी खेली. इंग्लैंड की टीम ने कुल 20 छक्के जमाए. मात्र 1 रन से अपना शतक चूकने वाले बेन स्टोक्स ने कुल 10 छक्के जमाए. छक्कों के अलावा इंग्लिश टीम ने 24 चौके भी जडे़.