ind vs eng pink ball test it is for icc to decide whether motera pitch is fit for purpose says joe root
भारत vs इंग्लैंड- पिंक बॉल टेस्ट @ICCTwitter

अहमदाबाद में भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गए पिंक बॉल टेस्ट के दूसरे ही दिन खत्म हो जाने के बाद इस मैदान की पिच पर खूब सवाल उठ रहे हैं. हालांकि इंग्लैंड के कप्तान जो रूट (Joe Root) ने इस पिच को दोष देना सही नहीं समझा है. पिच पर सवाल पूछे जाने पर इंग्लिश कप्तान ने कहा कि पिच सही थी या नहीं यह बताना खिलाड़ियों का नहीं बल्कि इंटनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) का काम है. यहां टॉस जीतकर पहले बैटिंग करने वाली इंग्लैंड अपनी दोनों पारियों में 112 और 81 रन पर ऑल आउट हो गई.

अपनी पहली पारी में 145 रन पर सिमटने वाले भारत ने यह मैच 10 विकेट से अपने नाम कर लिया. मैच के बाद रूट ने भले पिच को दोष नहीं दिया हो लेकिन उन्होंने यह साफ कहा कि आईसीसी को टेस्ट क्रिकेट के लिए अनुकूल पिच को लेकर विचार करना चाहिए.

रूट ने कहा, ‘मुझे लगता है कि यह पिच काफी चुनौतीपूर्ण थी. यह बल्लेबाजी के लिए बेहद मुश्किल थी. इसका फैसला खिलाड़ी नहीं करेंगे कि यह खेल के लिए उपयुक्त थी या नहीं. यह आईसीसी का काम है.’

उन्होंने कहा, ‘एक खिलाड़ी के रूप में हमें जैसी भी परिस्थितियां हों उनमें अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होता है.’ रूट ने कहा कि उनकी टीम पहली पारी में बड़ा स्कोर बनाने का मौका गंवा बैठी जो कि संभव लग रहा था.

उन्होंने कहा, ‘हम निराश हैं. मुझे लगता है कि हमने मौके गंवाए विशेषकर पहली पारी में. एक समय हमारा स्कोर 2 विकेट पर 71 रन था और हमारे पास बड़ा स्कोर करने का वास्तव में अच्छा मौका था.’

बता दें 4 टेस्ट मैच की इस सीरीज में इंग्लैंड ने भारत को पहले टेस्ट मैच में मात दी थी. इसके बाद भारत ने इंग्लैंड को स्पिन बॉलिंग को मदद देने वाली पिचों पर खेलने की चुनौती दी और दूसरे और तीसरे टेस्ट मैच इंग्लैंड की टीम भारतीय स्पिनरों के सामने बिल्कुल लाचार दिखाई दी है.

फिलहाल 3 टेस्ट मैचों के बाद भारत ने 2-1 की बढ़त बना ली है, जबकि सीरीज का चौथा और अंतिम टेस्ट मैच अहमदाबाद में ही 4 मार्च से शुरू होगा.