ind vs eng pink ball test nothing wrong with the pitch it was an interesting one says nathan lyon on motera ground
नाथन लियोन @ICCTwitter

अहमदाबाद में खेले गए पिकं बॉल टेस्ट (Pink Ball Test) की पिच अभी भी सुर्खियों में बनी हुई है. कई जानकार इसकी आलोचना कर रहे हैं, जबकि कई इसे बल्लेबाजी के लिए चुनौतीभरी

लेकिन रोमांचक करार दे रहे हैं. ऑस्ट्रेलिया के स्टार ऑफ स्पिनर नाथन लियोन (Nathan Lyon) ने भी मोटेरा की इस पिच की प्रशंसा की है और उन्होंने इसकी आलोचना करने वालों को

जमकर घेरा है. लियोन ने कहा कि जैसे ही गेंद स्पिन लेने लगती है तो सभी रोना शुरू कर देते हैं, जबकि तेज गेंदबाजी की अनुकूल पिच पर टीमों के कम स्कोर पर आउट होने पर कोई कुछ

नहीं बोलता.

इंग्लैंड की टीम इन दिनों 4 टेस्ट की सीरीज के लिए भारत दौरे पर है. सीरीज का तीसरा टेस्ट मैच डे-नाईट (IND vs ENG Day Night Test) पिंक बॉल बॉल से खेला गया, जिसमें

मेहमान टीम 10 विकेट की हार गई. इस दौरान वह अपनी दोनों पारियों में 112 और 81 रन पर आउट हुई. दो दिन से भी कम समय में खत्म हुआ यह मैच अब आलोचकों के निशानों पर है.

पिच की आलोचना करने वालों में पूर्व कप्तान माइकल वॉन, एंड्रयू स्ट्रॉस और एलिस्टेयर कुक भी शामिल हैं.

लेकिन ऑफ स्पिनर लियोन ने इस पिच का समर्थन किया है और पिच क्यूरेटर की सराहना भी की है. ‘द वेस्ट ऑस्ट्रेलियन’ ने लियोन के हवाले से लिखा, ‘हम दुनिया भर में तेज गेंदबाजी की

अनुकूल पिच पर खेलते हैं और 47, 60 रन पर आउट हो जाते हैं. कोई (पिच के बारे में) कुछ नहीं कहता. लेकिन जैसे की यह स्पिन लेना शुरू कर देती है, दुनिया भर में ऐसा लगता है कि

सभी ने रोना शुरू कर दिया है.’

इस कंगारू ऑफ स्पिनर ने कहा, ‘मुझे यह समझ नहीं आता. मुझे इसमें (पिच में) कोई दिक्कत नहीं लगी, यह रोमांचक थी.’ पिच क्यूरेटर से महानतम ऑफ स्पिनरों में से एक का सफर तय

करने वाले लियोन ने कहा कि वह अहमदाबाद के क्यूरेटर को सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (SCG) में लाना पसंद करेंगे. उन्होंने कहा, ‘मैं पूरी रात इसे देख रहा था. यह बेहद शानदार था. मैं उस

क्यूरेटर को एससीजी में लाने के बारे सोच रहा हूं.’

भारत डे-नाइट टेस्ट में जहां तीन स्पिनरों के साथ उतरा वहीं इंग्लैंड ने अपनी प्लेइंग XI में सिर्फ एक स्पिनर जैक लीच को जगह दी.. लियोन ने कहा, ‘इस टेस्ट मैच के बारे में सर्वश्रेष्ठ चीज

यह थी कि इंग्लैंड 4 तेज गेंदबाजों के साथ उतरा था. मेरे लिए यही काफी है. मुझे कुछ और कहने की जरूरत नहीं है.’