ind vs eng we put in a very good bowling performance to restrict india says jos butller
इंग्लैंड टीम @BCCI

इंग्लैंड के कप्तान जोस बटलर ने दूसरे वनडे मैच की जीत के बाद माना की पुणे की यह पिच बल्लेबाजी के लिए काफी माकूल थी और उनके गेंदबाजों ने भारतीय टीम को 336 के स्कोर पर ही रोक लिया यह हमारे बॉलरों के लिए बड़ी कामयाबी थी. इंग्लैंड ने टॉस जीतकर भारत को पहले बैटिंग का न्योता दिया था. लेकिन टीम इंडिया ने यहां शुरुआती 10 ओवरों में अपने दोनों ओपनरों के विकेट गंवाकर सिर्फ 41 रन ही जोड़े.

भारतीय टीम ने आखिरी 10 ओवरों में 126 रन जोड़कर अपने स्कोर को 336 तक ले जाने में अहम भूमिका निभाई. हालांकि इंग्लिश टीम ने यह टारगेट 42.3 ओवरों मे ही यह मैच अपने नाम किया. अब यह तीन मैचों की सीरीज 1-1 से बराबर है. सीरीज का फैसला रविवार को होने वाले अंतिम मैच में होगा.

बटलर ने मैच के बाद पुरस्कार समारोह में कहा, ‘मुझे लगता है कि हमने बहुत अच्छी गेंदबाजी की जिससे भारतीय टीम को उस स्कोर पर रोक सके. वे आखिरी 10 ओवर में जिस तरह से खेले उसे देख कर कहा जा सकता है कि हम बीच के ओवरों में उन्हें रोकने में सफल रहे.’

सलामी बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो (111 गेंदों पर 124) और ऑलराउंडर बेन स्टोक्स (52 गेंदों पर 99) ने अपनी तूफानी पारियां खेलने के साथ दूसरे विकेट के लिए 114 गेंदों पर 175 रन की साझेदारी कर मैच भारत की पकड़ से दूर कर दिया. बेयरस्टो ने पहले विकेट के लिए जेसन रॉय (55) के साथ 110 रन की साझेदारी की.

उन्होंने कहा, ‘लक्ष्य का पीछा करते समय हमने शानदार साझेदारी की. हमारे सलामी बल्लेबाज पिछले काफी समय से हमारी मजबूती रहे है. जॉनी बेयरस्टो ने बेन स्टोक्स के साथ जिस तरह की साझेदारी की वह कमाल की थी.’

इंग्लैंड के कप्तान ने 10 ओवर में महज 47 रन देने वाले स्पिनर मोईन अली की भी तारीफ की, जिन्होंने बीच के ओवरों में भारतीय बल्लेबाजों पर अंकुश लगाए रखा. उन्होंने कहा, ‘मोईन अली ने शानदार गेंदबाजी की. इस जीत से अब आखिरी मुकाबला भी रोचक होगा.’ मैन ऑफ द मैच बेयरस्टो ने कहा कि पिछले मैच की निराशा इस जीत से खत्म हो गई. उन्होंने जैसन रॉय और स्टोक्स की भी तारीफ की.

उन्होंने कहा, ‘हमारे लिए सबसे अच्छी बात यह रही कि एक टीम के तौर पर हम अपने रवैये से नहीं भटके. पहले वनडे के बाद हम निराश थे. भारत के बड़ा स्कोर खड़ा करने के बाद भी आज हम आसानी से जीत दर्ज कर के खुश है.’

उन्होंने पिच को बल्लेबाजी के लिए उपयुक्त करार देते हुए कहा, ‘यह अच्छा विकेट था लेकिन ईमानदारी से कहूं तो हम किसी भी लक्ष्य से नहीं डरते. मेरे और टीम के नजरिए से यह जरूरी था कि हम अपना नैसर्गिक खेल खेले.’

बेयरस्टो ने कहा, ‘पिछले मैच में शतक से चूकने की निराशा थी लेकिन इस बार ऐसा करने की खुशी है. ईमानदारी से कहूं तो इस मैच में भी मेरा सोचने का तरीका वही था जो पिछले मैच में था. मुझे लगता है पिछले मैच में भी हमने अच्छा किया था। आज स्टोक्स के शॉट्स देखना शानदार रहा.’