IND vs NZ Kanpur Test- India New Zealand Test Ended at Draw: कानपुर टेस्ट मैच के आखिरी दिन भारत ने न्यूजीलैंड को 00000000000 रन से हराकर शानदार जीत दर्ज कर ली है. अब दो टेस्ट की सीरीज में भारत 1-0 से आगे है, जबकि सीरीज का दूसरा और आखिरी मैच 3 दिसंबर से मुंबई में खेला जाएगा. कीवी टीम ने इस मैच को ड्रॉ कराने की शानदार कोशिश की थी. लेकिन मैच के अंतिम दो सत्रों में भारतीय टीम ने बेहतरीन गेंदबाजी के दम पर यहां जीत दर्ज की. भारत ने अपनी दूसरी पारी 234/7d पर घोषित कर मेहमान टीम के सामने 284 रन का लक्ष्य रखा था. लेकिन कीवी टीम रवींद्र जडेजा (4/40) और रविचंद्रन अश्विन (3/35) के फिरकी को संभाल नहीं पाई और उसने यह मैच गंवा दिया.

मैच के दूसरे हाफ में न्यूजीलैंड ने इस मैच में वापसी की भरसक कोशिश की थी, जब उसने भारत की दूसरी पारी में टॉप 5 विकेट सिर्फ 51 रन पर निकाल लिए थे. लेकिन इस मैच में अपना डेब्यू कर रहे श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) ने दूसरी पारी में 65 रन की लाजवाब पारी खेल भारत को संकट से उबार लिया और इसके बाद रिद्धिमान साहा के नाबाद (61*) रन की बदौलत एक बार फिर उसे मजबूत स्थिति में पुहंचा दिया.

न्यूजीलैंड ने इसके बाद मैच की चौथी पारी में भी जमकर दम दिखाया और उसके पहले 4 बल्लेबाजों में से 3 ने भारत को विकेट के लिए तरसा दिया. मैच के आखिरी दिन टीम इंडिया को पहले सत्र में कोई विकेट नहीं मिल पाया था.

मैच के चौथे दिन के अंत में भारत को कीवी टीम का पहला विकेट भले ही जल्दी मिल गया था. लेकिन इसके बाद विलियम सोमरविले (36) और टॉम लेथम (52) की धैर्यपूर्ण पारियों ने भारत के सब्र की परीक्षा लेनी शुरू कर दी. दोनों ने 194 गेंदों का सामना भारत को विकेट से दूर रखा. लंच के बाद सोमरविले (36) को आउट कर उमेश यादव ने इस जोड़ी को तोड़ा. इसके बाद कप्तान केन विलियमसन (24) ने 112 गेंदों का सामना कर सिर्फ 24 रन बनाए. उन्होंने लेथम के साथ मिलकर भारत को तीसरे विकेट के लिए 116 गेंदों तक इंतजार कराया.

यहां जैसे ही रविचंद्रन अश्विन ने लेथम को बोल्ड किया तो भारत ने अपनी वापसी का रास्ता खोज लिया. इसके बाद रवींद्र जडेजा ने भी एक के बाद कुल 4 शिकार कर न्यूजीलैंड की हार तय कर दी. अक्षर पटेल ने भई एक विकेट अपने नाम किया.

इससे पहले श्रेयस अय्यर ने अपनी पहली पारी में शानदार शतक जमाया था. इसकी बदौलत भारत ने पहली पारी में 345 रन बनाए थे. कीवी टीम अपनी पहली पारी में 296 रन ही बना सकी थी और भारत को यहां पहली पारी के आधार पर 49 रन की बढ़त हासिल हुई थी.