तिरुवनंतपुरम में भारतीय टीम को आठ विकेट से शर्मनाक हार जरूर झेलनी पड़ी लेकिन मैच में युवा ऑलराउंडर शिवम दुबे का बल्‍ला भी खूब चला. पहली बार नंबर-तीन पर बल्‍लेबाजी का मौका पाने वाले दुबे ने 30 गेंद में चार छक्के और तीन चौकों की मदद से 54 रन ठोक दिए. मैच के बाद उन्‍होंने एक बड़ा बयान दिया.

पढ़ें:- VIDEO: मैदान में पड़ रहे थे चौके-छक्के, पिच के पास पहुंच गया चार फिट लंबा सांप और फिर…

शिवम दुबे ने कहा ,‘‘यह मैदान बड़ा था लेकिन मैं किसी भी मैदान पर छक्के लगा सकता हूं. आपने आज देखा होगा. मैं कहीं भी छक्‍के लगाने में सक्षम हूं.’’

शिवम दुबे ने पारी की शुरुआत में खराब टाइमिंग वाले शॉट को लेकर भी प्रतिक्रिया दी. उन्‍होंने कहा ,‘‘तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी का मौका मिलना मेरे लिये बड़ी बात है. मुझ पर निश्चित तौर पर दबाव था. रोहित शर्मा ने मेरे पास आकर इसमें मेरी मदद की.

दुबे ने कहा, “रोहित भाई ने मुझे संयम के साथ अपनी ताकत पर खेलने के लिए कहा. एक सीनियर खिलाड़ी से मुझे इसी तरह की प्रेरणा की जरूरत थी . उसके बाद मैंने छक्का लगाया और फिर सहज होकर खेला.”

पढ़ें:- तिरुवनंतपुरम टी20 में भारत की शर्मनाक हार के बाद विराट ने इसपर फोड़ा ठीकरा

फिल्डिंग के दौरान कैच छूटने पर कहा ,”हमने कैच छोड़े जो दुर्भाग्यपूर्ण था लेकिन किसी भी टीम से कैच छूट सकते हैं. हम सर्वश्रेष्ठ टीम है. यह मैच कठिन था लेकिन हम अगले मैच में वापसी करेंगे.”