ind w vs eng w india to face england in 1st t20i harmanpreet kaur wants to get back in form

लंबे समय से खराब फॉर्म से जूझ रही भारतीय टीम की टी20 फॉर्मेट की कप्तान हरमनप्रीत कौर (Harmanpreet Kaur) शुक्रवार को इंग्लैंड के खिलाफ जब पहले टी20 मैच में उतरेंगी तो उनकी नजरें अपनी फॉर्म हासिल करने पर होंगी. हरमन अगर फॉर्म में लौटती हैं तो फिर भारतीय टीम के बैटिंग में मजबूती मिल सकती है. भारतीय टीम ने यहां इस सीरीज से पहले एकमात्र टेस्ट और 3 मैचों की वनडे सीरीज खेली थी. यह एकमात्र टेस्ट ड्रॉ रहा था, जबकि वनडे सीरीज में इंग्लैंड ने 2-1 से सीरीज अपने नाम की.

वनडे सीरीज मिताली राज ने लगातार अच्छा प्रदर्शन करते तीन अर्धशतक जड़े लेकिन उनके अलावा अन्य बल्लेबाजों ने निराश किया और तीन टी20 मैचों की सीरीज में टीम इसमें सुधार करने की कोशिश करेगी. वनडे मैचों में भारत की शीर्ष दो खिलाड़ी मिताली और झूलन गोस्वामी मैदान के बाहर से ये मुकाबले देखेंगी.

हरमनप्रीत ने नवंबर 2018 से खेल के सबसे छोटे प्रारूप में अर्धशतक नहीं जड़ा है और वह बड़ी पारी खेलकर उदाहरण पेश करना चाहेंगी. दोनों सलामी बल्लेबाज शेफाली वर्मा (Shafali Verma) और स्मृति मंधाना (Smriti Mandhana) अच्छी लय में हैं लेकिन टीम को इन दोनों ही बल्लेबाजों के प्रदर्शन में अधिक निरंतरता की जरूरत है, विशेषकर उपकप्तान मंधाना के.

दौरे पर अब तक शानदार प्रदर्शन करने वाली स्नेह राणा का फरवरी 2016 के बाद अपना पहला टी20 मुकाबला खेलना लगभग तय है. शेफाली के साथ टीम में 17 साल की एक अन्य खिलाड़ी रिचा घोष को भी साउथ अफ्रीका के खिलाफ घरेलू सीरीज में अच्छे प्रदर्शन के बाद इंग्लैंड के खिलाफ अंतिम एकादश में जगह मिल सकती है.

भारतीय बल्लेबाजों ने वनडे अंतरराष्ट्रीय सीरीज में काफी खाली गेंद खेली थीं लेकिन छोटे प्रारूप में वे यह गलती नहीं कर सकते. भारत ने अब तक पिच नहीं देखी है क्योंकि वे लीसेस्टर में ट्रेनिंग कर रहे हैं लेकिन हालात कैसे भी हों उन्हें अगर इंग्लैंड जैसी टीम को चुनौती देनी है तो कम से कम 150 रन बनाने होंगे.

दीप्ति शर्मा और स्नेह के अलावा भारत के पास तेज गेंदबाज सिमरन दिल बहादुर के रूप में तीसरा ऑलराउंडर विकल्प मौजूद है, जिन्होंने साउथ अफ्रीका के खिलाफ पदार्पण किया था.

(भाषा)