mahi mahi

आज भारतीय टीम के लिए और खासकर महेंद्र सिंह धोनी के लिए बड़ा दिन है। मुंबई के ब्रेबॉन स्टेडियम में इंग्लैंड के खिलाफ भारत ए टीम का कमान संभाल रहे धोनी आज आखिरी बार बतौर कप्तान मैदान पर उतरे और अपने चहेते कैप्टन कूल को देखकर दर्शकों का उत्साह चरम पर पहुंच गया। अंबाती रायडू के रिटायर हर्ट होने के बाद धोनी के पवेलियन से बाहर निकलते ही स्टेडियम में धोनी-धोनी की आवाज गूंजने लगी। धोनी आज मैदान पर एक मजबूत इरादे के साथ उतरे हैं। उन्होंने किसी और के लिए नहीं बल्कि खुद के लिए आज अच्छा खेला और अपने फैंस को उनके सपोर्ट के लिए तोहफा दिया। ये भी पढ़ें:कप्तानी छोड़ने के लिए महेंद्र सिह धोनी पर डाला गया था दबाव

धोनी ने अपने 200वें वनडे से पहले अचानक कप्तानी छोड़ने का फैसला कर सभी को चौंका दिया था। माही इसके बाद 15 जनवरी से शुरू हो रही वनडे सीरीज का हिस्सा रहेंगे लेकिन वह कप्तान नहीं होंगे। इंग्लैंड के खिलाफ वनडे और टी20 सीरीज का जिम्मा विराट कोहली संभालेंगे। धोनी के इस तरह अचानक कप्तानी से हटने के बाद कई तरह की अफवाहें सामने आ रही थी। कहा जा रहा था कि चयनसमिति की ओर से धोनी पर दबाव बनाया जा रहा था। हालांकि एम एस के प्रसाद ने इन अफवाहों गलत बताया लेकिन कारण चाहे जो भी हो सच तो यही है कि धोनी अब टीम इंडिया के कप्तान के रूप में नहीं खेलेंगे। धोनी ने आज के मैच में आक्रामक बल्लेबाजी करते हुए 40 गेंदो में 68 रन जड़ दिए। ये भी पढ़ें:महेंद्र सिंह धोनी को आखिरी बार कप्तानी करते मुफ्त में देख पाएगे फैंस

धोनी ने बतौर कप्तान अपनी आखिरी पारी में आठ चौके और दो छक्के लगाए। इस बीच एक फैन मैदान के अंदर घुस आया और धोनी के पास पहुंच गया। सुरक्षाकर्मियों ने उसे ले जाने की काफी कोशिश की जिसके बाद खेल दोबार शुरू हो सका। धोनी ने अपनी आखिरी कप्तानी पारी में बता दिया कि वह अब भी क्रिकेट खेलने के लिए पूरी तरह फिट हैं। आशा है कि फैंस अपने कैप्टन कूल को 2019 का विश्वकप में खेलते देख सकेंगे और एक बार फिर मैदान पर धोनी-धोनी की गूंज सुनाई देगी।