एम एस धोनी, जसप्रीम बुमराह © PTI
एम एस धोनी, जसप्रीम बुमराह © PTI

5 मैचों की वनडे सीरीज में टीम इंडिया का अच्छा प्रदर्शन और श्रीलंका का निराशाजनक प्रदर्शन जारी है। टीम इंडिया ने सीरीज के चौथे वनडे में भी श्रीलंका को हरा दिया। टीम इंडिया ने श्रीलंका को 168 रनों के बड़े अंतर से जीता। आपको बता दें श्रीलंका की अपने घर पर वनडे में ये सबसे बड़ी हार है। टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 375 रन बनाए, जिसके जवाब में मेजबान टीम सिर्फ 207 रन पर ऑल आउट हो गई। श्रीलंका के लिए मैथ्यूज ने 70 रनों की पारी खेली। भारत के लिए बुमराह, पांड्या और कुलदीप यादव ने 2-2 विकेट लिए।

टीम इंडिया की जीत

चौथे वनडे में भी विराट कोहली की टीम की गेंदबाजी जबर्दस्त रही। श्रीलंका को पहला झटका शार्दुल ठाकुर ने दिया जिन्होंने डिकवेला को 14 रन पर आउट किया। इसके बाद कुसल परेरा ने बेहद ही गैर जिम्मेदाराना तरीके से रन आउट होकर अपना विकेट गंवा दिया। अपना पहला मैच खेल रहे मुनावीरा को बुमराह ने 11 और तिरिमने को पांड्या ने 18 रन पर आउट किया। श्रीलंका की टीम ने सिर्फ 68 रन पर अपने 4 विकेट गंवा दिए।

इसके बाद पूर्व कप्तान एंजेलो मैथ्यू ने कुछ अच्छे शॉट खेले। ऑलराउंडर सिरिवर्दने ने भी उनका अच्छा साथ दिया। दोनों के बीच 73 रन की साझेदारी भी हुई लेकिन इस जोड़ी को हार्दिक पांड्या ने सिरिवर्दने को आउट कर तोड़ दिया। मैथ्यूज ने अपना अर्धशतक पूरा किया लेकिन दूसरी ओर से विकेट गिरते रहे और टीम इंडिया ने श्रीलंकाई टीम को 207 रन पर समेट कर मैच जीत लिया।

भारत की बल्लेबाजी

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। भारतीय टीम की शुरुआत खराब रही, शिखर धवन सिर्फ 4 रन बनाकर पैवेलियन लौट गए लेकिन इसके बाद कप्तान विराट कोहली और रोहित शर्मा ने श्रीलंकाई टीम को कोई मौका नहीं दिया। इन दोनों ही बल्लेबाजों ने कोलंबो में श्रीलंका के खिलाफ दूसरे विकेट के लिए 219 रनों की साझेदारी की। जिसमें विराट कोहली ने 131 रन और रोहित शर्मा ने 85 रनों का योगदान दिया। विराट कोहली का तूफानी शतक, तोड़ डाले ये रिकॉर्ड

विराट कोहली और रोहित शर्मा ने जरूर शतक लगाए लेकिन के एल राहुल और हार्दिक पांड्या कुछ खास नहीं कर सके। पांड्या 19 और के एल राहुल 7 रन पर निपट गए। टीम इंडिया ने 274 रन पर 5 विकेट गंवा दिए थे लेकिन इसके बाद एम एस धोनी और मनीष पांडे ने कमाल की बल्लेबाजी की। अपना 300वां वनडे मैच खेल रहे एम एस धोनी ने नाबाद 50 रनों की पारी खेली जबकि मनीष पांडे ने नाबाद 50 रन बनाए। इन दोनों के बीच 101 रनों की साझेदारी हुई जिसकी बदौलत टीम इंडिया ने 50 ओवर में 375 रन का स्कोर खड़ा किया।