India must thank Joe Root for generosity, says  Sunil Gavaskar
Virat Kohli with Sunil Gavaskar © AFP

भारत और इंग्‍लैंड के बीच नॉटिंघम टेस्‍ट में विराट कोहली एंड कंपनी के लिए जीत की राह आसान नजर आ रही है। चौथे दिन का खेल शुरू हुआ तो पहले ही सेशन में गेंदबाजों ने इंग्‍लैंड के चार विकेट चटका दिए। मैदान पर जोस बटलर 33 गेंद पर 19 रन बनाकर खेल रहे हैं। उनके साथ ऑलराउंडर बेन स्‍टोक्‍स तीन रन पर क्रिज पर मौजूद है। इंग्‍लैंड का स्‍कोर 35 ओवर के बाद 84/4 है। मेजबान टीम अभी भी भारत के स्‍कोर से 437 रन पीछे है।

इंग्‍लैंड के कप्‍तान जो रूट ने टॉस जीतकर भारत को पहले बल्‍लेबाजी करने का न्योता दिया। भारत ने पहली पारी में 329 रन बनाए तो जवाब में इंग्‍लैंड की टीम 161 रन पर ही ढेर हो गई। भारत को 168 रनों की बढ़त मिली। जिसके बाद विराट कोहली की टीम ने 352/7 रन बनाने के बाद कुल 520 रन की बढ़त के साथ पारी घोषित की। जो रूट के भारत को पहले बल्‍लेबाजी का मौका देने के फैसले की हर तरफ से आलोचना हो रही है।

पूर्व भारतीय दिग्‍गज सुनील गावस्‍कर ने इसपर चुटकी लेते हुए कहा, “भारत को जो रूट की इस दरियादिली के लिए उन्‍हें शुक्रिया कहना चाहिए।” गावस्‍कर ने कहा, “बर्मिघम और लॉर्ड्स में स्विंग होती गेंदों के सामने भारतीय बल्‍लेबाज ज्‍यादा देर मैदान पर टिक नहीं पाए। वहीं, नॉटिंघम में सलामी बल्‍लेबाज शिखर धवन और केएल राहुल ने अनुशासन से बल्‍लेबाजी की और बाहर जाती गेंदों को छेड़ने के बजाए पैड के पास बल्‍ले को रखते हुए खेले। दोनों ने अच्‍छी शुरुआत दिलाई, जिसके बाद बाकी बल्‍लेबाजों भी अच्‍छा खेले।”