विराट कोहली  © AFP
विराट कोहली © AFP

टीम इंडिया इस सीजन में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन टेस्ट मैच खेलेगी। इस बात की घोषणा दोनों देशों के बोर्ड ने बुधवार को की। पहला टेस्ट केपटाउन में 5 जनवरी को शुरू होगा। वहीं बाकी के बचे हुए दो टेस्ट, 6 वनडे और 3 टी20 अंतरराष्ट्रीय के कार्यक्रम की घोषणा बाद में की जाएगी। दक्षिण अफ्रीका 26 से 29 दिसंबर के बीच जिम्बाब्वे के खिलाफ अपना पहला डे-नाइट टेस्ट खेलेगी। यह चार दिन का मैच होगा। बुधवार को की गई इस घोषणा के पहले इस संबंध में काफी लंबे समय से चर्चा चल रही थी और आखिरकार चर्चा का रिजल्ट अच्छा रहा।

क्रिकेट साउथ अफ्रीका के एक्जिक्यूटिव हारून लोरगट ने कहा कि इस संबंध में समझौता करना कुछ हद तक जरूरी भी था ताकि इस दौरे को श्रीलंका के भारत दौरे के बाद फिट किया जा सके। भारत की श्रीलंका के खिलाफ सीरीज 24 दिसंबर को खत्म हो रही हैं। वहीं दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज 1 मार्च से शुरू होनी है।

लोरगट ने कहा, “टीम इंडिया के पास समय कम है इसलिए हमने टेस्ट मैच घटाकर तीन कर दिए हैं और वनडे बढ़ाकर 6 कर दिए हैं, इसके अलावा 3 टी20 मैच भी खेले जाएंगे।” इसके पहले जो योजना थी उसके अंतर्गत चार टेस्ट, तीन वनडे और 3 टी20 खेलने की थी। वैसे टीम इंडिया की श्रीलंका सीरीज के कारण भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच बॉक्सिंग डे टेस्ट नहीं खेला जा सकेगा।

[ये भी पढ़ें: एम एस धोनी बन गए ‘शार्प शूटर’, कोलकाता में लगाया सटीक निशाना]

हालांकि, बॉक्सिंग डे टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका जिम्बाब्वे से खेलेगी। ये दोनों टीमें साल 2004-05 के बाद एक-दूसरे खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में आमने-सामने होंगी। यह टेस्ट मैच चार दिन का होगा। इस सीजन में साउथ अफ्रीका को कुल 10 टेस्ट मैच खेलने हैं जिसमें दो बांग्लादेश के खिलाफ, 1 जिम्बाब्वे के खिलाफ, तीन भारत के खिलाफ और चार ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले जाएंगे। इस तरह से यह दक्षिण अफ्रीका का सबसे व्यस्त टेस्ट सीजन होगा। टीम इंडिया- दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दो दिन का प्रैक्टिस मैच 30 और 31 दिसंबर को खेला जाएगा।