© AFP
© AFP

साल 2017 में टीम इंडिया को अर्श पर पहुंचाने वाले कप्तान विराट कोहली की सबसे बड़ी चुनौती अब उनके सामने खड़ी है। विराट कोहली 5 जनवरी से अपने कप्तानी करियर की सबसे मुश्किल सीरीज में उतरने वाले हैं। द.अफ्रीका दौरे पर टीम इंडिया 3 टेस्ट, 6 वनडे और 3 टी20 मैचों की सीरीज खेलेगी, जिसके लिए विराट कोहली बिलकुल तैयार हैं। द.अफ्रीका रवाना होने से पहले विराट कोहली ने जोशीले बयान देते हुए कहा कि वो इस दौरे पर जीत से कम कुछ नहीं चाहते हैं, द.अफ्रीका की मुश्किल पिच भी टीम इंडिया को नहीं रोक सकती है।

बल्लेबाज का सकरात्मक रवैया जरूरी

विराट कोहली ने बयान दिया, ”द.अफ्रीका की मुश्किल पिच हमारे लिए मुद्दा नहीं है। ये सब बल्लेबाज के रवैये पर निर्भर करता है। अगर आपकी सोच सही नहीं है तो भारतीय हालात भी आपके लिए मुश्किल होंगे”।

द.अफ्रीका दौरे के लिए पूरी तरह तैयार

विराट कोहली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि टीम इंडिया को विदेश में जीत हासिल करने के लिए शानदार क्रिकेट खेलनी होगी। विराट ने बयान दिया, ” विदेश में जीत हासिल करने के लिए आपको लगातार अच्छा खेल दिखाना होता है। हम इसके लिए पूरी तरह तैयार हैं। ये दौरा हमारे लिए मौके की तरह है।”

टीम इंडिया की गेंदबाजी मजबूत

”द.अफ्रीका का गेंदबाजी अटैक पिछले दौर पर ज्यादा अनुभवी और मजबूत था, हमने उस दौरान बहुत अच्छा क्रिकेट खेला था। अब हम अच्छा टेस्ट क्रिकेट खेल रहे हैं, हमारे गेंदबाज भी अच्छी फॉर्म में हैं। देश के लिए क्रिकेट खेलना गौरव की बात है, अगर आप कोई भी मैच जीतते हो, तो आप अच्छा महसूस करते हो।”

साल 2013-द.अफ्रीका दौरे पर प्रदर्शन

टीम इंडिया ने द.अफ्रीका के पिछले दौरे पर 0-1 से हार झेली थी। पहला टेस्ट जोहान्सबर्ग में ड्रॉ रहा था लेकिन डरबन में उसे हार मिली थी। जोहान्सबर्ग टेस्ट की पहली पारी में विराट कोहली ने 119 रन बनाए थे जबकि दूसरी पारी में विराट कोहली ने 96 रनों की पारी खेली थी। हालांकि डरबन टेस्ट में विराट कोहली का बल्ला नहीं चला था और टीम इंडिया को हार मिली थी।