India vs Australia, 1st ODI: Hardik Pandya responds to when he will start bowling in international cricket
Hardik Pandya @ Twitter

Cricket News Today:  ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ पहले वनडे मुकाबले में हार्दिक पांड्या ने 76 गेंदों पर 90 रन की पारी खेली। अपने शतक के साथ-साथ्‍ज्ञ भारत को मैच जिताने से भी चूक गए। हार्दिक ने गेंदबाजी नहीं की। मैच के बाद उन्‍होंने बताया कि वो तभी गेंदबाजी करेंगे जब समय सही होगा और साथ ही उन्होंने टीम से बहु प्रतिभा वाले अन्य खिलाड़ियों को तराशने का आग्रह किया क्योंकि यहां शुरूआती वनडे में आस्ट्रेलिया से मिली हार के दौरान उनकी गेंदबाजी की काफी कमी महसूस की गयी।

हार्दिक पांड्या पीठ की सर्जरी के बाद अभी तक गेंदबाजी का भार संभालने के लिये तैयार नहीं है जिससे टीम का संतुलन प्रभावित हो रहा है और यह बात खुद कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने स्वीकार की। उन्होंने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘मैं अपनी गेंदबाजी पर काम कर रहा हूं। मैं गेंदबाजी करूंगा, जब सही समय होगा। ’’

रवींद्र जडेजा पर फिर बरसे संजय मांजरेकर- वनडे क्रिकेट में नहीं करते हैं डिजर्व

मेजबान ऑस्ट्रेलियाई टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 374 रन बनाये। पांड्या ने कहा कि यह महत्वपूर्ण है कि जब वह मैच की परिस्थितियों में गेंदबाजी करना शुरू करें तो वह बेहतरीन प्रदर्शन के लिये जरूरी रफ्तार हासिल कर पायें।

इस आल ऑराउंडर ने नेट पर गेंदबाजी करना शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं अपनी गेंदबाजी में 100 प्रतिशत होना चाहता हूं। मैं उस रफ्तार से गेंदबाजी करना चाहता हूं जो अंतरराष्ट्रीय स्तर के लिये जरूरी हो। ’’

IND vs AUS: सबसे तेज 1000 रन बनाने वाले टॉप-5 बल्‍लेबाजों में शामिल हुए Hardik Pandya, नंबर-1 पर ये खिलाड़ी

आईसीसी टी20 विश्व कप के लिये 10 महीने बचे हैं और पांड्या ने संकेत दिया कि वह लंबे लक्ष्य और बड़े टूर्नामेंट को ध्यान में रखते हुए गेंदबाजी शुरू करना चाहते हैं। ‘‘हम आगे के बारे में सोच रहे हैं। हम टी20 विश्व कप और अन्य महत्वपूर्ण टूर्नामेंट के बारे में सोच रहे हैं जहां मेरी गेंदबाजी ज्यादा अहम होगी। ’’

पांड्या ने कहा, ‘‘जब आप 375 रन के लक्ष्य का पीछा करते हो तो हर किसी को जज्बे के साथ खेलना चाहिए। इसके अलावा कोई कुछ नहीं कर सकता। आप ज्यादा योजना नहीं बना सकते। ’’

उन्होंने कहा कि भारत को हरफनमौला विकल्पों के बारे में विचार करना चाहिए क्योंकि छठा गेंदबाजी विकल्प वनडे टीम के संतुलन के लिये जरूरी है।

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि शायद हमें किसी को ढूंढना होगा जो भारत के लिये खेल चुका हो और उन्हें तराशना चाहिए और उन्हें खिलाने का तरीका ढूंढना होगा। ’’

पंड्या ने कहा, ‘‘जब आप पांच गेंदबाजों के साथ उतरते हो तो यह हमेशा मुश्किल होगा क्योंकि अगर किसी का दिन अच्छा नहीं होगा तो उसकी भूमिका को भरने के लिये आपके पास कोई नहीं होगा। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘चोट से ज्यादा यह छठे गेंदबाजी की भूमिका के बारे में है। अगर किसी का दिन अच्छा नहीं है तो इससे अन्य गेंदबाजों को मदद मिलेगी। ’’

उपलब्ध विकल्पों के बारे में पूछने पर उन्होंने चयनकर्ताओं से अपने बड़े भाई कृणाल को देखने का आग्रह किया जो स्पिन आल राउंडर हैं। उन्होंने कहा, ‘‘आप अन्य के नाम ले सकते हैं। या फिर हमें पंड्या परिवार में ही देखना चाहिए। ’’