एरन फिंच © PTI
एरन फिंच © PTI

ऑस्ट्रेलिया की तरफ से एरन फिंच ने भारत दौरे पर धूम मचा रखी है। हालांकि फिंच ने पहले टी20 के बाद एक ऐसा बयान दिया है जिससे पिछले साल भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच हुई टेस्ट सीरीज के एक बड़े विवाद की याद फिर से ताजा हो गई। जब फिंच से पहले टी20 में आउट होने पर सवाल पूछा तो उन्होंने कहा उस गेंद पर मेरा ‘ब्रेन फेड’ हो गया था और इसी कारण मैं क्लीन बोल्ड हो गया था। ये भी पढ़ें: पाकिस्तान का सबसे बड़ा तेज गेंदबाज चोटिल, टीम को लगा बड़ा झटका

फिंच ने मैच के बाद कहा, ”कुलदीप यादव की गेंद पर बोल्ड होने पर मेरा मानना है कि स्वीप करना ज्यादा अच्छा ऑप्शन था। जिस गेंद पर मैं आउट हुआ उसपर मेरा ‘ब्रेन फेड’ हो गया था। पहले मैं गेंद को स्वीप करना चाहता था लेकिन इसके बाद मैंने सोचा कि इसे ऑन साइड पर खेलूं और इसी कश्मकश में मैं बोल्ड हो गया। ऐसा क्रिकेट के खेल में होता है, खासकर टी20 मैचों में।”

फिंच ने आगे कहा, ”कुछ गेंदें घूम रहीं थीं और हमारे लिए पिच पर उछाल का सही अंदाजा लगा पाना मुश्किल था। मुझे लगा कि स्पिन गेंदबाजों के खिलाफ स्वीप करना ज्यादा सही रहेगा और इसीलिए मैंने स्वीप शॉट खेले। मैं सोच रहा था कि या तो मैं नॉन स्ट्राइकर एंड पर रहूंगा या फिर गेंदों को बाउंड्री के बाहर भेजूंगा। हालांकि इस दौरान मेरे ज्यादातर शॉट फील्डर के हाथों में जा रहे थे।”

आपको याद दिला दें कि टेस्ट सीरीज में ये ( ब्रेन फेड) शब्द काफी विवादों में रहा था और ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को मजाक भी बना था। पिछले साल जब ऑस्ट्रेलियाई टीम ने टेस्ट सीरीज खेलने के लिए भारत का दौरा किया था तो उस दौरान बेंगलुरू टेस्ट में स्टीवन स्मिथ ने आउट होने के बाद ड्रेसिंग रूम से डीआरएस लेने की सलाह मांगी थी जो कि क्रिकेट के नियमों के खिलाफ था। हालांकि दिन का खेल खत्म होने के बाद जब स्मिथ से इसपर सवाल पूछा गया था तो उन्होंने कहा था कि ऐसा ब्रेन फेड होने के कारण हुआ। इसके बाद से ही इस शब्द पर ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों का जमकर मजाक बना था और टीम की आलोचना भी हुई थी।