Getty Images
Getty Images

टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया के​ खिलाफ वनडे सीरीज में 4-1 से जीत हासिल की और अब वो विरोधी से टी20 की जंग में भिड़ने वाली है। 3 मैचों की टी20 सीरीज का पहला मैच रांची में कल शाम 7 बजे से खेला जाएगा। वनडे सीरीज में जबर्दस्त जीत हासिल करने वाली टीम इंडिया टी20 फॉर्मेट में और खतरनाक है। उसका ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 क्रिकेट में खासा अच्छा रिकॉर्ड है। लेकिन आपको बता दें इसके बावजूद टीम इंडिया इस सीरीज को बेहद ही गंभीरता से ले रही है। टीम इंडिया के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने रांची टी20 से पहले पत्रकारों से बात की, जहां उन्होंने 4 बड़े बयान दिए। आइए डालते हैं उन पर एक नजर:

1. विरोधी नहीं, तैयारियों पर ध्यान

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टी20 मैच से पहले बुमराह ने पत्रकारों से कहा ,‘‘हम इस तरीके से चीजों को नहीं देखते । मनोवैज्ञानिक दबाव के बारे में सोचने की बजाय हम अपनी तैयारियों पर फोकस करने में भरोसा करते हैं । हमें अपने बेसिक्स पर ध्यान रखना है और नतीजे खुद ब खुद मिलेंगे।’’ भारत के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया का टी20 रिकॉर्ड बहुत अच्छा नहीं है और अब तक 13 मैचों में से सिर्फ चार में उसे जीत मिली है । पिछली बार मोहाली में 2016 टी20 विश्व कप में उसे सात विकेट से हराकर भारत ने सेमीफाइनल में जगह बनाई थी ।

2. फॉर्मेट बदलने से प्रदर्शन पर असर नहीं

डेथ ओवर स्पेशलिस्ट जसप्रीत बुमराह ने कहा कि फॉर्मेट बदलने का प्रदर्शन पर कोई असर नहीं पडे़गा । उन्होंने कहा , ‘‘भारत के लिये खेलना ही सबसे बड़ी प्रेरणा है । फॉर्मेट चाहे जो भी हो , देश के लिये खेलना गर्व की बात है । बुमराह ने कहा, ‘हम एक दूसरे से लगातार सीखते रहते हैं और सीनियर्स से पूछते रहते हैं कि अपने प्रदर्शन में सुधार कैसे किया जाये । इसी से प्रदर्शन में निखार आता है ।’’

3. आशीष नेहरा के खेलने से फायदा

अनुभवी आशीष नेहरा की टीम में वापसी को अच्छा बताते हुए जसप्रीत बुमराह ने कहा कि नेहरा से काफी कुछ सीखने को मिलता है । बुमराह ने कहा ,‘‘आशीष भाई काफी अनुभवी हैं और उनके साथ गेंदबाजी में मजा आता है । वो मार्गदर्शन करते रहते हैं और मेरे जैसे युवा गेंदबाजों के लिये उनके टिप्स काफी उपयोगी साबित होते हैं ।’’

4. फिटनेस सभी के लिए जरूरी

लगातार क्रिकेट के बीच तेज गेंदबाजों के लिये फिटनेस का स्तर बनाये रखना कितना मुश्किल है, ये पूछने पर बुमराह ने कहा कि सिर्फ गेंदबाजों के लिये ही नहीं बल्कि पूरी टीम के लिये फिटनेस बहुत जरूरी है । उन्होंने कहा, ‘‘ऐसा नहीं है कि सिर्फ तेज गेंदबाजों का ही फिट होना जरूरी है । आजकल इतना क्रिकेट हो रहा है कि हर खिलाड़ी के लिये फिटनेस उतनी ही जरूरी है । हम सभी इस पर काफी मेहनत कर रहे हैं ।’’ (पीटीआई के इनपुट के साथ)