© Getty Images
© Getty Images

विराट कोहली भले ही दुनिया के नंबर वन वनडे बल्लेबाज और टी20 बल्लेबाज हों। भले ही मौजूदा दौर में और साल 2017 में वो सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी हों लेकिन एक सच ये भी है कि विराट कोहली की ऑस्ट्रेलिया के सामने बोलती बंद हो जाती है। तूफान की तरह रन उगलता उनका बल्ला खामोश सा पड़ जाता है। ये हम नहीं साल 2017 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ विराट के आंकड़े कह रहे हैं, जिनके मुताबिक वो कंगारू टीम के खिलाफ नाकामयाबी का छक्का लगा चुके हैं।

साल 2017 में विराट कोहली ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लगातार 6 पारियों में फ्लॉप हो चुके हैं। उनके बल्ले से सिर्फ 7.66 के औसत से 46 ही रन निकले हैं। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ विराट की नाकामयाबी का सफर टेस्ट सीरीज से शुरु हुआ। पुणे टेस्ट की पहली पारी में विराट शून्य पर आउट हो गए। दूसरी पारी में उन्होंने सिर्फ 13 रन बनाए। बैंगलोर टेस्ट की पहली और दूसरी पारी में भी विराट का बल्ला खामोश ही रहा। उनके बल्ले से सिर्फ 12 और 15 रन ही निकले। रांची टेस्ट की एक पारी में भी वो 6 ही रन बना सके और अब विराट कोहली वनडे सीरीज के पहले वनडे में भी बगैर खाता खोले आउट हो गए।  ये भी पढ़ें: हार के बाद स्टीवन स्मिथ की ‘बहानेबाजी’ पर युजवेंद्र चहल का ‘करारा जवाब’

विराट कोहली को तेज गेंदबाज कूल्टर नाइल ने आउट किया। बैकवर्ड प्वाइंट पर ग्लेन मैक्सवेल ने उनका लाजवाब कैच पकड़ा। कोहली ने 4 गेंदें खेली और कोई रन नहीं बना सके। कोहली के वनडे करियर में ये कुल 12वां मौका है जब वो बिना खाता खोले आउट हुए हैं। वहीं ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कोहली कुल दूसरी बार शून्य पर आउट हुए हैं।