India vs Australia 2019: BCCI to announce squad on February 15
Virat Kohli and Kuldeep Yadav ians

आईसीसी वनडे विश्व कप से पहले भारत को अपने घर में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज खेलनी है। इस सीरीज के लिए चयन शुक्रवार को होगा। चयन समिति की मुंबई में होने वाली इस बैठक में चयनकर्ताओं का ध्यान वर्कलोड मैनेजमेंट पर होगा।

भारत को अपने घर में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दो टी-20 मैच और पांच वनडे मैच खेलने हैं। यह सीरीज 30 मई से शुरू हो रहे विश्व कप से पहले संभावत: भारत की सीमित ओवरों की आखिरी सीरीज होगी। इस सीरीज के बाद खिलाड़ी इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में अपने हाथ आजमा सकते हैं।

पढ़ें:- ऑस्ट्रेलिया सीरीज में पंत को मिलेगा मौका, रहाणे की होगी वापसी !

चयन समिति इस सीरीज में टीम के सीनियर खिलाड़ियों को आराम देना भी चाहेगी लेकिन वह इस बात की भी ध्यान रखेगी की वह इस तरह की टीम न चुने जिसे आस्ट्रेलिया को फायदा हो। ऐसे में चयन समिति के लिए टीम में सही संतुलन बनाना बड़ी चुनौती होगी। भारत ने बीते साल लगातार विदेशी दौरे किए हैं और वहां हमारे तेज गेंदबाजों ने काफी भार उठाया है जिसके कारण उन्हें आराम करने का मौका नहीं मिला।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के सूत्रों ने कहा, “सीनियर खिलाड़ियों का वर्कलोड मैनेजमेंट निश्चित तौर पर चर्चा का विषय होगा क्योंकि हम सभी जानते हैं कि भारतीय टीम लगातार खेल रही है और चयनकर्ता तथा टीम प्रबंधन ने आम सहमति से यह फैसला किया है कि खिलाड़ियों को जरूरी आराम दिया जाए। जैसा आपने देखा होगा, टीम के नियमित कप्तान विराट कोहली को न्यूजीलैंड सीरीज के आखिरी में आराम दिया गया था। आप रोहित को भी कुछ मैचों में आराम करते हुए देख सकते।”

पढ़ें:- हरभजन सिंह ने चुनी विश्व कप की टीम, रिषभ पंत को नहीं जगह

उन्होंने कहा, “लेकिन साथ ही यह अहम है कि भारत सीरीज में ऑस्ट्रेलिया को हावी होने का मौका नहीं दे और यह सुनिश्चित करे की ऑस्ट्रेलिया को विश्व कप में जाने से पहले उसकी खोई हुई लय न मिले। भारत के खिलाफ सीरीज ऑस्ट्रेलिया के आत्मविश्वास में इजाफा कर सकती है। गेंदबाजी में जसप्रीत बुमराह की वापसी तय है जिन्होंने न्यूजीलैंड सीरीज के दौरान आराम किया था।”

टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने पहले ही यह साफ कर दिया है कि आईपीएल के दौरान भी खिलाड़ियों पर नजर रखी जाएगी।

शास्त्री ने हाल ही में एक इंटरव्यू में कहा था, “हम इस मामले को लेकर बीसीसीआई और सीओए से संपर्क में हैं। हमारे पास कुछ नीतियां हैं और हम उनका पालन करना चाहेंगे। आमतौर पर आईपीएल के दो महीने मेरे लिए आराम के होते हैं और इस दौरान में सिर्फ क्रिकेट देखने का लुत्फ उठाता हूं, साथ ही युवा खिलाड़ियों को देखता हूं, लेकिन विश्व कप को ध्यान में रखते हुए इस आईपीएल में मैं खिलाड़ियों पर नजर रखूंगा।”