India vs Australia 2nd ODI: Australia beat India by 51 Runs, Take Lead 2-0
Australia Cricket Team @twitter

India vs Australia 2nd ODI: ऑस्ट्रेलिया ने दूसरे वनडे में भारत को 51 रन से हराकर तीन मैचों की सीरीज में 2-0 की बढ़त बना ली है। ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करते हुए स्टीव स्मिथ (Steve Smith) के शतक के अलावा चार अर्धशतकीय पारियों से 4 विकेट पर 389 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया।

ऑस्ट्रेलियाई ‘रन मशीन’ स्मिथ का यह भारत के खिलाफ 50 ओवर के प्रारूप में पांचवां शतक है और उन्होंने सीरीज के शुरुआती मैच में सैकड़े के बाद लगातार दूसरा शतक जमाया। पहले वनडे में शतक के लिए उन्होंने 66 गेंद का सामना किया था।

भारत के लिए 390 रन का लक्ष्य काफी बड़ा साबित हुआ जो कप्तान विराट कोहली (89) और लोकेश राहुल (76) के अर्धशतकों के बावजूद निर्धारित 50 ओवर में 9 विकेट पर 338 रन ही बना सकी। इस बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम के लिये फॉर्म में चल रहे शिखर धवन (30) और मंयक अग्रवाल (28) ने शुरूआत बाउंड्री से की।

अग्रवाल ने पहले ही ओवर में दो बार गेंद सीमारेखा के पार करायी जबकि धवन ने मिशेल स्टार्क पर लगातार तीन चौके जमाए। अग्रवाल की शानदार कवर ड्राइव से मेहमान टीम ने 6.1 ओवर में 50 रन का स्कोर पार कर लिया था। हालांकि तेजी से रन जुटाने के प्रयास में धवन विकेट गंवा बैठे।

दूसरे वनडे में जीत हासिल कर ऑस्ट्रेलिया ने वनडे सीरीज पर कब्जा किया

फिर कोहली उतरे और भारतीय कप्तान ने हमेशा की तरह अपनी 87 गेंद की पारी के दौरान कुछ बेहतरीन शॉट लगाते हुए भारत को लक्ष्य का पीछा करने की दौड़ में बनाये रखा। भारत ने 9-10 रन प्रति ओवर के जरूरी रन रेट को बनाये रखने की कोशिश की।

लेकिन तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड ने ऑस्ट्रेलिया को सबसे बड़ी सफलता दिलायी जब उनकी गेंद पर मोइजेस हेनरिक्स ने मिडविकेट पर डाइव करते हुए कोहली का कैच लपक लिया। इसके बाद हार्दिक पांड्या क्रीज पर उतरे और इस हरफनमौला ने लोकेश राहुल के साथ मिलकर कुछ बड़े शॉट जमाए। लेकिन इतना ही काफी नहीं था।

राहुल अपनी 66 गेंद की पारी के दौरान पांच छक्के और चार चौके जमाकर पवेलियन पहुंच गए। इसके बाद भारतीय टीम की उम्मीद टूट गई। ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज पैट कमिंस ने अपने 10 ओवर में 67 रन देकर तीन विकेट हासिल किए।

स्मिथ की 104 रन की पारी के अलावा विस्फोटक सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर ने 77 गेंद में 83 रन बनाये जबकि कप्तान आरोन फिंच ने पहले विकेट के लिये 23 ओवर में 142 रन की साझेदारी के दौरान 60 रन का योगदान दिया।

David Warner Injury Update: फील्डिंग करते हुए डेविड वार्नर को लगी चोट, क्‍या अगले मैच में खेल पाएंगे ?

मार्नस लाबुशेन और ग्लेन मैक्सवेल की जोड़ी ने इसी आक्रामकता को बरकरार रखते हुए आस्ट्रेलिया को विशाल स्कोर तक पहुंचाया। लाबुशेन ने 70 और बिग हिटर मैक्सवेल ने 29 गेंद में चार छक्के और इतने ही चौके की मदद से नाबाद 63 रन बनाए।

स्मिथ ने अपनी 104 रन की पारी के दौरान 14 चौके और दो छक्के जड़े जबकि वार्नर ने सात बार गेंद सीमारेखा के पार कराई और तीन छक्के जड़े, हालांकि वह श्रेयस अय्यर के डीप से सीधे फेंके गये शानदार थ्रो के कारण अपने शतक से चूक गए।

स्मिथ ने अपने पारंपरिक अंदाज में खेलते हुए विकेट के चारों ओर शॉट जमाए और भारतीय गेंदबाजी की धज्जियां उड़ाईं। उन्हें आउट करने के लिए भारत को हरफनमौला हार्दिक पांड्या की मदद लेनी पड़ी जिन्होंने एक साल पहले हुई पीठ की सर्जरी के बाद पहली बार गेंदबाजी की और वह अपने तीसरे ओवर में इस ऑस्ट्रेलियाई को लुभाकर आउट करने में भी सफल रहे। उनकी गेंद को खेलने के प्रयास में स्मिथ शार्ट थर्ड मैन पर मोहम्मद शमी को कैच दे बैठे।

इससे पहले वॉर्नर ने पहले ही ओवर में शमी की गेंद को बाउंड्री के लिए भेजकर ऑस्ट्रेलियाई पारी शुरू कराई। उन्होंने अपने अंदाज से बड़ी पारी खेलने के इरादे जाहिर कर दिए थे। सीरीज के शुरुआती मैच में काफी रन लुटाने के बाद शीर्ष तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने मेडन ओवर से शुरूआत की और विकेट से अच्छी रफ्तार हासिल की जिस पर अच्छी खासी घास थी। लेकिन वह जल्द ही लय खो बैठे और ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने धीमी शुरूआत के बाद तेजी पकड़ना शुरू किया।

फिंच ने बुमराह की गेंद को बैकवर्ड स्क्वायर लेग की ओर भेजकर अपना पहला चौका जड़ा जबकि गेंदबाज की रफ्तार 146-147 किमी प्रति घंटा थी। युवा नवदीप सैनी को जल्दी ही गेंदबाजी पर लगाया गया और वार्नर ने उनका स्वागत स्क्वायर लेग बाउंड्री पर छक्का लगाकर किया।

इन परिस्थितियों में सैनी के कम अनुभव का पूरा फायदा उठाते हुए वार्नर ने उनके ओवर में दो चौके जमाये और फिर पारी के आठवें ओवर में शमी की गेंद का भी यही हाल किया जिससे ऑस्ट्रेलिया ने 50 रन पूरे कर एक और मजबूत शुरुआत की।