India vs Australia, 2nd Test: Our target is to restrict Australia to 320-odd in first innings, says Hanuma Vihari
Hanuma Vihari (AFP Photo)

भारतीय ऑलराउंडर खिलाड़ी हनुमा विहारी ने कहा कि पर्थ टेस्ट के दूसरे दिन उनकी टीम का लक्ष्य ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी को 320 रन तक के स्कोर पर समेटना है। विहारी ने कहा कि ऐसा करने के लिए जरूरी है कि भारतीय बल्लेबाज उस पिच पर अनुशासित बने रहें।

पर्थ टेस्ट: पहले दिन का खेल खत्‍म, ऑस्‍ट्रेलिया का स्‍कोर 6/277 रन

विहारी ने पहले दिन का खेल खत्म होने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, ‘‘कल पहला घंटा काफी अहम होगा। अगर हम उन्हें 320 रन से कम के स्कोर पर आउट कर देते हैं तो हम मैच में बने रहेंगे। अगर हम अच्छी बल्लेबाजी करते हैं तो हमारे पास अच्छा मौका होगा। पहला घंटा अहम है। हमारी एकमात्र योजना अनुशासित रहने की थी। मुझे लगता है कि हमने इस संदर्भ में बहुत अच्छा किया। सभी तीन सेशन में हमने सचमुच अच्छी वापसी की। हमने अच्छा प्रयास किया।’’

पिछली बातों को दिमाग से निकालना होगा

पिच सुबह के सेशन में थोड़ी धीमी थी लेकिन लंच के बाद ये तेज हो गई। भारतीय गेंदबाजों ने इससे अच्छा तालमेल बिठाते हुए छह विकेट चटकाए। विहारी ने 53 रन देकर दो विकेट हासिल किए जिससे ऑस्ट्रेलिया ने पहले दिन स्टंप तक छह विकेट पर 277 रन बना लिए।

माइकल क्लार्क ने कहा, ‘पर्थ में टीम इंडिया को खलेगी रविंद्र जडेजा की कमी

विहारी ने कहा, ‘‘हमारे लिए अहम चीज यही है कि हम इन पहलुओं के बारे में ज्यादा नहीं सोचे। अगर ये ऊपर-नीचे होता है तो भी आप इसके बारे में कुछ नहीं कर सकते। अगर हम अपने दिमाग से इन चीजों को बाहर ही रखेंगे तो हम सफल रहेंगे। बल्लेबाज के तौर पर हम जितना संभव हो सकते अनुशासित होने की कोशिश करेंगे जैसा कि हमने पिछले टेस्ट की दूसरी पारी में किया था।आपको हर गेंद को देखकर खेलना होगा। यही मायने रखता है। अगर आप पिछली गेंद के बारे में सोचोगे तो आप अगली गेंद पर ध्यान नहीं लगा पाओगे। आपको पिछली गेंद को अपने दिमाग से निकालना होगा।’’

भारत टेस्ट इतिहास में केवल तीसरी बार चार तेज गेंदबाजों के साथ उतरा है। ऐसे में बतौर मुख्य  स्पिनर 14 ओवर गेंदबाजी करने वाले विहारी ने कहा कि इस मैच में कुछ ओवर करने के बाद उन्हें अपनी भूमिका समझ आ गयी। उनकी शुरूआत इतनी अच्छी नहीं रही लेकिन उन्होंने फिर कसी गेंदबाजी से मार्कस हैरिस और शॉन मार्श के दो अहम विकेट अपने नाम किये।

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने थोड़ा तेज गेंदबाजी करने की कोशिश की क्योंकि मैं थोड़ा ज्यादा पिच को हिट करने की कोशिश कर रहा था ताकि उछाल मिल सके। मेरी योजना यही थी कि कसी गेंदबाजी करने की कोशिश करूं और तेज गेंदबाजों को आराम दे सकूं। मैं जानता था कि जरूरत पड़ने पर मुझे गेंदबाजी करनी होगी। मैं इसके लिए तैयार था। मैं खुश हूं कि टीम के लिये अच्छा काम कर सका। ’’