मैट रेन्शॉ  © IANS
मैट रेन्शॉ © IANS

बैंगलुरू टेस्ट के दूसरे दिन ऑस्ट्रेलिया टीम ने कल के स्कोर 40 रनों से आगे बल्लेबाजी करना शुरू किया। दिन की अभी शुरुआत की हुई थी की सातवें ओवर में ही रविचंद्रन अश्विन की एक घूमती हुई गेंद पर डेविड वॉर्नर 33 रनों के व्यक्तिगत स्कोर पर बोल्ड हो गए। उनके आउट होने के वक्त ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 52 रन था। इसी बीच नए बल्लेबाज स्टीवन स्मिथ बल्लेबाजी करने को आए। स्मिथ ने अश्विन की एक फुल लेंथ की गेंद को गेंदबाज की दिशा में खेला। अश्विन ने गेंद को रोकने की कोशिश की लेकिन वह इसी बीच नॉन स्ट्राइकिंग छोर पर खड़े मैट रेन्शॉ से टकरा गए। अश्विन का मानना था कि रेन्शॉ को गेंद को देखते हुए हट जाना चाहिए था ताकि फील्डिंग के लिए जगह बन जाती।

इस बात पर पहले तो अश्विन अंपायर और स्टीवन स्मिथ से अपनी झल्लाहट बताते नजर आए। अंपायर ने जैसे- तैसे उन्हें समझाया। वहीं बाद में विराट कोहली ने रेन्शॉ को इस संबंध में कुछ कहा। हालांकि, युवा रेन्शॉ ने इस ओर ध्यान नहीं दिया और अपनी बल्लेबाजी में ध्यान जमाए रखा। हालांकि, रेनशॉ की इसमें कोई गलती नहीं थी और अश्विन- कोहली का झल्लाना बेवजह की मालूम पड़ रहा था। यह बात ऑस्ट्रेलिया की पारी के 22वें ओवर की है।  भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया, दूसरे टेस्ट का लाइव स्कोरकार्ड पढ़ने के लिए क्लिक करें…

रेन्शॉ ने आज बेहतरीन बल्लेबाजी की है और अब तक वह ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों के बीच सबसे ज्यादा प्रभावित करते हुए नजर आए हैं। ऑस्ट्रेलिया ने अपना दूसरे विकेट लंच के ठीक पहले गंवा दिया। दूसरे विकेट के रूप में स्टीवन स्मिथ आउट हुए। स्मिथ को एक घूमती हुई गेंद पर जडेजा ने साहा के हाथों झिलवाया। स्मिथ ने 8 रन बनाए। गौर करने वाली बात है कि स्मिथ जैसे बड़े बल्लेबाज ने अपने 8 रनों के लिए 52 गेंदें खर्च कीं। ये बताता है कि वह कितने दबाव में थे। खबर लिखे जाने तक ऑस्ट्रेलिया ने 2 विकेट पर 90 रन बना लिए हैं और पहली पारी के आधार पर वे 99 रन पीछे हैं। भारतीय टीम पहली पारी में 189 रनों पर ऑलआउट हो गई थी।