तीसरे वनडे में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को हराया © AFP
तीसरे वनडे में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को हराया © AFP

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए तीसरे वनडे मैच में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को 5 विकेट से हरा दिया। इस जीत के साथ ही बारत ने ऑस्ट्रेलिया से सीरीज भी जीत ली है और 3-0 की अजेय बढ़त भी हासिल कर ली। 294 रनों के लक्ष्य को भारत ने सिर्फ 47.5 ओवरों में 5 विकेट खोकर ही हासिल कर लिया। भारत की तरफ से हार्दिक पांड्या ने सबसे ज्यादा (78) रनों की पारी खेली। वहीं रोहित शर्मा ने (71), अजिंक्य रहाणे ने (71) बेहतरीन पारी खेली। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से पैट कमिंस ने 2, कूल्टर-नाइल, केन रिचर्डसन, एशटन एगर ने 1-1 खिलाड़ी को आउट किया। ये भी पढ़ें: वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में विराट कोहली ने युवराज सिंह को छोड़ा पीछे

294 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम को रोहित शर्मा और अजिंक्य रहाणे ने तूफानी शुरुआत दिलाई। दोनों बल्लेबाजों ने क्रीज पर आते ही तेजी से रन बानने शुरू कर दिए और ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को दबाव में ला दिया। इस दौरान रोहित ने बेहद आक्रामक होकर खेलते हुए लगातार गेंदों को बाउंड्री के बाहर भेजा। रोहित ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपने वनडे करियर का सबसे तेज अर्धशतक लगाया। दोनों बल्लेबाजों ने पहले विकेट के लिए 139 रनों की साझेदारी की।

जब लग रहा था कि रोहित अपना शतक पूरा कर लेंगे तभी उन्हें (71) रनों के स्कोर पर कूल्टर नाइल ने कैच आउट करा अपनी टीम को पहली सफलता दिला दी। पहला विकेट गिर जाने के बाद कप्तान कोहली ने रहाणे के साथ मिलकर पारी को आगे बढ़ाया। इस दौरान रहाणे ने भी अपना अर्धशतक पूरा किया। हालांकि भारत को दूसरा झटका जल्दी लग गया और रहाणे (70) भी अर्धशतक लगाकर पवेलियन लौट गए। जल्दी-जल्दी 2 वितेट लेकर ऑस्ट्रेलिया मुकाबले में वापसी की कोशिश कर रहा था लेकिन कोहली और पांड्या ने मैच का पासा भारत की तरफ पलट दिया।

चौथे नंबर पर खेलने आए पांड्या ने आते ही शॉट खेलने शुरू कर दिए। पांड्या ने इस दौरान एशटन एगर को अपने निशाने पर लिया और जमकर छक्के लगाए। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 56 रनों की साझेदारी की। इसी बीच कोहली बड़ा शॉट खेलने के चक्कर में बाउंड्री में फिंच को कैच थमा बैठे। कोहली ने आउट होने से पहले (28) रनों की पारी खेली। भारत के स्कोर में अभी 3 रन और जुड़े थे कि केदार जाधव (2) भी सस्ते में आउट होकर भारत को मझधार में छोड़कर चले गए।

ऑस्ट्रेलिया अब मैच में वापसी की कोशिश कर रहा था लेकिन पांड्या ने अपना अर्धशतक ठोक दिया और भारत को फिर से मैच में हावी कर दिया। दोनों बल्लेबाजों ने इसके बाद शानदार बल्लेबाजी की और ऑस्ट्रेलिया को मैच में वापस आने का कोई मौका नहीं दिया। हालांकि जब मैच भारत की मुट्ठी में था तभी पांड्या बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में कमिंस की गेंद पर कैच आउट हो गए। पांड्या ने आउट होने से पहले (78) रनों की पारी खेली। अंत में मनीष पांडे और धोनी ने मिलकर भारत को मैच जिता दिया।