विराट कोहली तीसरे क्रिकेट टेस्ट मैच से पहले प्रैक्टिस करते हुए © Getty Images
विराट कोहली तीसरे क्रिकेट टेस्ट मैच से पहले प्रैक्टिस करते हुए © Getty Images

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज में विराट कोहली का बल्ला अबतक खामोश रहा है, विराट कोहली 2 टेस्ट की चारों पारियों में फ्लॉप रहे हैं, लेकिन सीरीज के तीसरे टेस्ट में विराट के बल्ले से रनों की बारिश होनी तय है। दरअसल टीम इंडिया के कप्तान ने रांची टेस्ट के लिए स्पेशल ट्रेनिंग की है, खबरों की मानें तो विराट कोहली ने नेट्स पर खूब पसीना बहाया, उन्होंने अपने फुटवर्क पर खासा ध्यान दिया और अपने बैटिंग स्टांस में छोटा सा बदलाव किया।

विराट ने नेट्स पर लेग गार्ड की जगह ऑफ गार्ड पर बल्ला रखकर प्रैक्टिस की। विराट के गार्ड बदलने की वजह है स्पिन फ्रेंडली पिच जिनपर कंगारू स्पिनर्स के खिलाफ विराट कोहली को खासी परेशानी हुई, पुणे टेस्ट हो या फिर बैंगलोर टेस्ट दोनों ही मुकाबलों में विराट कोहली ऑफ स्पिनर नाथन लायन और बाएं हाथ के फिरकी गेंदबाज ओकीफ के आगे जूझते नजर आए। नतीजा ये हुआ कि विराट कोहली पिछले 2 टेस्ट मैचों की 4 पारियों में सिर्फ 40 ही रन बना सके हैं। सूत्रों की मानें तो विराट ने अपना बैटिंग गार्ड बदलने का फैसला चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे की बल्लेबाजी को देखते हुए भी लिया है। [ये भी पढ़ें: रांची में कौन होगा विराट का ओपनर?]

दरअसल रहाणे और पुजारा ने बैंगलोर टेस्ट की दूसरी पारी में अपने बैटिंग गार्ड में बदलाव किया था। रहाणे और पुजारा ने लेग स्टंप गार्ड की जगह ऑफ स्टंप गार्ड लेकर बल्लेबाजी की और दूसरी पारी में शानदार अर्धशतक लगाया। पुजारा ने 92 और रहाणे ने 52 रन की पारी खेली और 5वें विकेट के लिए 118 रनों की साझेदारी की जिसकी बदौलत टीम इंडिया ने मैच भी जीता।

 

रांची के ‘रन’वीर हैं विराट! रांची में विराट कोहली के पास फॉर्म में लौटने का अच्छा मौका है, क्योंकि जेएससीए मैदान की पिच उनके लिए अबतक खासी लकी रही है। रांची में विराट कोहली ने अबतक वनडे और टी20I को मिलाकर कुल 3 पारियां खेली हैं जिसमें उनके बल्ले से 261 की धमाकेदार औसत से रन निकले हैं। रांची में विराट एक शतक और एक अर्धशतक लगा चुके हैं। साफ है रांची में कोहली का इतिहास विराट है, यहां उनके बल्ले से रनों की बारिश होती है, भले ही अभी विराट खराब फॉर्म से जूझ रहे हों, लेकिन नेट्स पर की गई स्पेशल ट्रेनिंग से विराट कंगारू गेंदबाजों पर जबर्दस्त पलटवार जरूर कर सकते हैं।