स्टीवन स्मिथ © Getty Images (File photo)
स्टीवन स्मिथ © Getty Images (File photo)

पहले सेशन में लंच तक 3 विकेट गंवाने वाली ऑस्ट्रेलिया टीम ने दूसरे सेशन में पलटवार किया। लंच के बाद टी ब्रेक तक ऑस्ट्रेलियाई टीम ने संभलकर खेलते हुए 85 रन जोड़े और उसने सिर्फ एक ही विकेट गंवाया।दूसरे सेशन में टीम इंडिया को एकलौती सफलता तेज गेंदबाज उमेश यादव ने दिलाई। उन्होंने पीटर हैंड्सकॉम्ब को पैवेलियन भेजा। चाय तक ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ 80 रन और ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल 19 रन पर नाबाद रहे।

ऑस्ट्रेलिया का पलटवार:  पहला सेशन गंवाने के बाद ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीवन स्मिथ मैदान पर उतरे और उन्होंने अपने साथी बल्लेबाज पीटर हैंड्सकॉम्ब के साथ संभली शुरुआत की। दोनों ही बल्लेबाजों ने खासकर स्मिथ ने ईशांत शर्मा और रविंद्र जडेजा के खिलाफ बेहद धैर्य से बल्लेबाजी की। स्मिथ ने पहले अपना अर्धशतक पूरा किया और उसके साथ साथ उन्होंने हैंड्सकॉम्ब के साथ अपनी साझेदारी को भी 50 के पार पहुंचाया। ऑस्ट्रेलिया की इस खतरनाक जोड़ी को तोड़ा उमेश यादव ने जिन्होंने अपनी शानदार रिवर्स स्विंग से हैंड्सकॉम्ब को छकाते हुए LBW आउट किया।  [भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया, तीसरा क्रिकेट टेस्ट मैच, लाइव स्कोरकार्ड जानने के लिए क्लिक करें…]

हैंड्सकॉम्ब 19 रन बनाकर पैवेलियन लौटे। 140 रन पर चौथा झटका लगने के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम ने भारत को कोई मौका नहीं दिया। स्मिथ और ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल विकेट पर टिक गए। 57वें ओवर में ईशांत शर्मा की गेंद पर ग्लेन मैक्सवेल के खिलाफ LBW अपील जरूर हुई, टीम इंडिया ने डीआरएस का इस्तेमाल भी किया लेकिन ईशांत की गेंद नो बॉल निकली और मैक्सवेल पैवेलियन नहीं लौट सके। दूसरी ओर कंगारू कप्तान स्टीव स्मिथ ने टेस्ट क्रिकेट में अपने 5000 रन पूरे किए उन्होंने सिर्फ 97 पारियों में इस आंकड़े को छुआ। स्टीव स्मिथ की पारी की बदौलत ही ऑस्ट्रेलियाई टीम ने दूसरे सेशन में भारतीय टीम पर पलटवार किया।