ऑस्ट्रेलिया टीम ©PTI
ऑस्ट्रेलिया टीम ©PTI

चौथे वनडे मैच में ऑस्ट्रेलियाई टीम की हार का सिलसिला टूट गया और विदेशी धरती पर लगातार 13 मैच के बाद ऑस्ट्रेलिया को पहली जीत मिली। चौथे वनडे में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 21 रनों से हरा दिया। 335 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम 50 ओवरों में 313 रन ही बना सकी और मुकाबले को 21 रनों से हार गई। वहीं इस हार के बाद भारत के लगातार 10 जीत का सपना भी टूट गया। भारत की तरफ से केदार जाधव ने सबसे ज्यादा (67) रनों की पारी खेली। वहीं, रोहित (65), रहाणे (53) रनों की पारी खेली। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से केन रिचर्डसन ने सबसे ज्यादा 3 खिलाड़ियों को आउट किया।

335 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम को अजिंक्य रहाणे और रोहित शर्मा ने तेज-तर्रार शुरुआत दिलाई। दोनों बल्लेबाजों ने क्रीज पर आते ही तेजी से रन बनाने शुरू कर दिए। इस दौरान रहाणे और रोहित दोनों ही बेहद आक्रामक होकर बल्लेबाजी कर रहे थे। देखते ही देखते दोनों बल्लेबाजों के बीच 50 रनों की पार्टनरशिप भी पूरी हो गई। रहाणे जहां चौके लगा रहे थे तो वहीं रोहित छक्के जड़ रहे थे। रोहित ने इसी बीच अपना अर्धशतक भी पूरा कर लिया। दूसरे छोर पर रहाणे भी पीछे नहीं रहे और लगातार तीसरे मैच में अर्धशतक जड़ा। ये भी पढ़ें: बतौर कप्तान सबसे तेज 2,000 रन बनाने वाले बल्लेबाज बने विराट कोहली

दोनों ने पहले विकेट के लिए 106 रनों की साझेदारी की। इसी बीच बड़ा शॉट खेलने के चक्कर में रहाणे (53) रन बनाकर पहले विकेट के रूप में आउट हो गए। तीसरे नंबर पर खेलने आए कोहली ने रोहित के साथ मिलकर स्कोर को आगे बढ़ाया ही था कि स्मिथ की बेहतरीन फील्डिंग ने रोहित (65) को रन आउट कर दिया और भारत के दोनों ओपनर पवेलियन लौट गए। 135 रन पर भारत के 2 विकेट गिर चुके थे। अभी स्कोर में 12 रन और जुड़े थे कि भारत को सबसे बड़ा झटका लग गया और कोहली (21) रन बनाकर कूल्टर नाइल का शिकार हो गए।

3 विकेट गिर जाने के बाद पांड्या, जाधव ने पारी को संभाला। दोनों ने स्कोर को 200 के पार पहुंचा दिया। इस दौरान पांड्या एक बार फिर से बेहद तेजी से रन बना रहे थे। हालांकि पांड्या जब अपने अर्धशतक से 9 रन दूर थे तभी वो एडम जंपा का शिकार बन गए। 225 रनों पर 5 विकेट गिर जाने के बाद जाधव ने पांडे के साथ मिलकर स्कोर को आगे बढ़ाया। इसी बीच जाधव ने अपना अर्धशतक भी पूरा किया। पांडे और जाधव ने भारत के स्कोर को 250 के पार पहुंचा दिया। इसी बीच बारिश ने थोड़ी देर के लिए मैच में खलल डाला लेकिन 15 मिनट के बाद मैच दोबारा शुरू हो गया।

जाधव और पांडे ने मैच को भारत की पकड़ से दूर नहीं जाने दिया और सोच-समझकर बल्लेबाजी की। हालांकि ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाज भारतीय बल्लेबाजों को आसानी से रन नहीं बनाने दे रहे थे और रनरेट लगातार बढ़ता जा रहा था। स्कोर को तेजी से बढ़ाने के चक्कर में जाधव (67) रन बनाकर आउट हो गए। अभी भारत जाधव के विकेट से उबर भी नहीं पाया था कि पैट कमिंस ने पांडे (33) को बोल्ड कर भारत को छठा झटका दे दिया। हालांकि दूसरे छोर पर धोनी ने भारत की उम्मीदों को जिंदा रखा रखीं। ऑस्ट्रेलिया ने इसी बीच धोनी (13) को आउट कर भारत को सातवां झटका दे दिया। भारत के विकेट गिरने का सिलसिला जारी रहा और नाइल ने अक्षर (5) को आउट कर भारत का आठवां विकेट गिरा दिए। आखिर में भारत मुकाबले को 21 रनों से हार गया।