भारतीय टीम © Getty Images
भारतीय टीम © Getty Images

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जा रहे चौथे वनडे मैच में ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीवन स्मिथ ने लगातार दूसरी बार टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया है। इस मुकाबले में भारत की टीम में 3 बदलाव हुए हैं। टीम इंडिया ने कुलदीप यादव, भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह को आराम दिया है और इनकी जगह पर अक्षर पटेल, उमेश यादव और मोहम्मद शमी को मौका दिया गया है। ऑस्ट्रेलिया की टीम में 2 बदलाव हुए हैं। खराब फॉर्म में चल रहे ग्लेन मैक्सवेल को टीम से बाहर कर दिया गया है और एशटन एगर चोटिल होने के कारण पहले ही सेवदेश लौट चुके हैं। मैक्सवेल की जगह मैथ्यू वेड और एगर की जगह एडम जंपा को खिलाया गया है।

पहले बल्लेबाजी करने पर क्या बोले स्टीवन स्मिथ: हम पहले बल्लेबाजी करना चाहेंगे। पिच ओवर दर ओवर धीमी होती जाएगी। हमें उम्मीद है कि हम अच्छा खेल दिखाएंगे और ज्यादा से ज्यादा रन बनाएंगे। अभी तक के मैचों में हम अपना बेस्ट नहीं दे पाए और हमारे लिए सीरीज बेहद निराशाजनक रही है लेकिन हम अब जीत की पटरी पर लौटने की कोशिश करेंगे। हमारी टीम में 2 बदलाव हुए हैं। मैक्सवेल की जगह वेड और एगर की जगह जंपा की वापसी हुई है। भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया, चौथा वनडे (लाइव ब्लॉग): टॉस जीतकर ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी का फैसला किया

पहले गेंदबाजी पर क्या बोले विराट कोहली: पिछ काफी सूखी है। हम भी पहले बल्लेबाजी करना चाहते थे। मैंने यहां काफी क्रिकेट खेली है। मुझे पूरी उम्मीद है कि स्पिनर इस पिच पर अच्छी गेंदबाजी करेंगे। हर मैच के साथ टीम का मनोबल बढ़ रहा है। हम हर मैच जीतना चाहते हैं। हमारी टीम मे 3 बदलाव हैं। कुलदीप यादव, भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह को आराम दिया गया है। इनकी जगह पर उमेश यादव, मोहम्मद शमी और अक्षर पटेल को खिलाया गया है।

भारत (प्लेइंग इलेवन): अजिंक्य रहाणे, रोहित शर्मा, विराट कोहली (कप्तान), हार्दिक पांड्या, केदार जाधव, मनीष पांडे, एमएस धोनी (विकेटकीपर), अक्षर पटेल, उमेश यादव, मोहम्मद शमी, युजवेंद्र चहल।

ऑस्ट्रेलिया (प्लेइंग इलेवन): डेविड वार्नर, एरन फिंच, स्टीवन स्मिथ (कप्तान), ट्रैविस हेड, माक्र्स स्टोनीस, पीटर हैंड्सकॉम्ब, मैथ्यू वेड (विकेटकीपर), पैट कमिंस, नाथन कुल्टर-नाइल, केन रिचर्डसन, एडम जम्पा।

भारतीय टीम 5 मैचों की वनडे सीरीज पहले ही अपने नाम कर चुकी है और टीम का इरादा इस मैच को जीतकर क्लीन स्वीप की तरफ एक और कदम बढ़ाने का होगा, तो वहीं ऑस्ट्रेलिया की टीम विदेशी जीत की पटरी पर लौटना चाहेगी।