© Getty Images
© Getty Images

महेंद्र सिंह धोनी वर्ल्ड क्रिकेट के सबसे मंझे हुए विकेटकीपर माने जाते हैं। विकेट के पीछे धोनी की तेजी काफी मशहूर है लेकिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे वनडे में उन्होंने एक बड़ी गलती कर दी। एम एस धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के ओपनर एरन फिंच को जीवनदान दे दिया। एरन फिंच जब 47 रन पर थे तो एम एस धोनी ने उनकी स्टंपिंग छोड़ दी। धोनी की इस गलती की वजह से एरन फिंच ने बैंगलोर वनडे में सिर्फ 96 गेंद में 94 रनों की पारी खेली और डेविड वॉर्नर के साथ मिलकर पहले विकेट के लिए कुल 231 रनों की साझेदारी की।

धोनी की भूल

एम एस धोनी से स्टंपिंग छूटने की गलती मैच के 23वें ओवर में हुई। कप्तान विराट कोहली ने लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल को आक्रमण पर लगाया और उनके सामने फिंच थे। दूसरी गेंद पर फिंच ने आगे बढ़कर शॉट खेलने की कोशिश की लेकिन इस दौरान गेंद उनके बल्ले और पैड के बीच में से निकल गई। विकेट के पीछे खड़े एम एस धोनी भी इस गेंद को पकड़ने से चूक गए और फिंच को बड़ा मौका मिल गया। डेविड वॉर्नर 100वें वनडे में शतक लगाने वाले पहले ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी बने

एम एस धोनी ने फिंच को मौका दिया तो उन्होंने इसका पूरा फायदा भी उठाया। जीवनदान मिलने के बाद फिंच ने अपना अर्धशतक पूरा किया। इसके बाद उन्होंने बड़े शॉट्स की बारिश कर दी। फिंच ने 47 रन पर मौका मिलने के बाद 3 छक्के और 3 चौके लगाए। हालांकि वो अपना शतक पूरा नहीं कर सके। फिंच को 94 रन पर उमेश यादव ने पैवेलियन की राह दिखा दी।