© PTI
© PTI

विराट कोहली की कप्तानी में भले ही टीम इंडिया चौथा वनडे मैच हार गई लेकिन इसमें कोई दो राय नहीं कि उसने सीरीज में जबर्दस्त प्रदर्शन किया है। टीम इंडिया लगातार 9 वनडे मैच जीतने के बाद मैच हारी। इस तरह विराट कोहली लगातार 10 मैच जीतने वाले पहले भारतीय कप्तान बनने से चूक गए। इस हार के बाद विराट कोहली ने अपनी टीम को एक खुली चुनौती दी। दरअसल चौथे वनडे के बाद हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में विराट कोहली से सुनील गावस्कर की एक टिप्पणी पर सवाल पूछा गया। सुनील गावस्कर ने बयान दिया था कि ये टीम अबतक की सबसे अच्छी वनडे टीम में से एक है।

सुनील गावस्कर के इस बयान पर विराट कोहली ने टिप्पणी करते हुए कहा, ‘अगर कोई आपकी टीम की तारीफ करे तो अच्छा लगता है लेकिन अभी हमें बहुत आगे जाना है। अगर हम घरेलू जमीं पर मिल रही सफलता को विदेश में भी हासिल करेंगे तभी मुझे बेहद खुशी होगी। विदेश में हालात एलियन(मुश्किल) होते हैं, हमें विदेश में जीत हासिल करने के लिए यही प्रक्रिया अपनानी होगी और लगातार अच्छा प्रदर्शन करना होगा।’ सिर्फ सीरीज जीतने से एम एस धोनी से बड़े कप्तान नहीं बन पाएंगे विराट कोहली!

विराट कोहली ने कमजोर टीमों को दी है मात

आपको बता दें विराट की कप्तानी में टीम इंडिया लगातार 8 टेस्ट सीरीज जरूर जीती है लेकिन इसमें से 5 टेस्ट सीरीज उसने अपने घर पर खेली हैं और इन सभी सीरीज में स्पिन फ्रेंडली विकेट बनाई गई थी। विदेश में खेली गई टेस्ट सीरीज की बात करें तो टीम इंडिया ने सिर्फ श्रीलंका और वेस्टइंडीज जैसी कमजोर टीमों को ही हराया है। वनडे में भी विराट कोहली की कप्तानी का असल टेस्ट बाकी है। वनडे फॉर्मेट में विराट कोहली की कप्तानी की बात करें तो वो अबतक कुल 4 वनडे सीरीज जीत चुके हैं लेकिन ये भी सच है कि 2 सीरीज उन्होंने वेस्टइंडीज और श्रीलंकाई टीम के खिलाफ जीती। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी उन्होंने घर पर सीरीज जीती हैं।